सुंदर पिचाई

सुंदर पिचाई की जीवनी -biography of sundar pichai

सुंदर पिचाई की जीवनी

ये कहानी उन भारतीय  है जो दुनिया की एक बहुत बड़ी कंपनी गूगल में सीईओ के पद पर काम कर रहे हैं जो google और alfavet दोनों के ceo हैं ये कोई और नहीं सुन्दर  पिचाई हैं  जिन्होने अपने मेहनत और हुनर के बल पर इतना बड़ा नाम और  हांसिल किये है आज हम उनकी जीवन के बारे में जानते हैं। 

                                                                       सुन्दर पिचाई का जन्म 10 जून 1972 को मदुरै के तमिलनाडु में एक साधारण परिवार में हुआ था इनका पूरा नाम पिचाई सुदरराजन है इनके पिता का नाम रघुनाथ पिचाई और माँ लक्ष्मी पिचाई है इनके पिता gec नाम के एक कंपनी में एलेट्रिकल इंजिनियर थे  | इनके जन्म लेने से पहले इनकी माँ स्ट्रेनोग्राफर का काम करती थी ये लोग साधारण परिवार के तरह दो कमरे वाले मकान में रहते थे  उनकी आर्थिक  स्थिती उस समय ज्यादा ठीक नहीं थी  जब ये 14 साल के थे तब इनके घर में पहला लैंडलाइन टेलीफ़ोन आया ये बचपन से ही एक बहुत अच्छे स्टूडेंट थे  जब 1993 में ये IIT खड़गपुर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई मेटलर्जी ब्रांच से  कम्प्लीट किये इंजीनियरिंग कम्प्लीट करने के वाद उन्होंने तुरंत स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी से स्कालरशिप हांसिल किया  उस समय उनके अमेरिका जाने का खर्च उनके पिता के 1 साल का वेतन था। तब भी उनके घर वाले ने उन्हें पूरा सपोर्ट किया और वे अमेरिका पहुंच गए। 

उस समय इनका सोच ये था की वो अपना एम एस की ड्रिग्री हांसिल करने के वाद फिर पीएचडी की पढ़ाई  करेंगे। लेकिन फिर बाद में इन्होने अपना फैसला बदल लिया और १९९५ में स्टैनफोर्ड से एम एस की ड्रिग्री करने के वाद एक ऍप्लाइड मेटेरियल कंपनी में इंजीनियर और प्रोडेक्ट मनेजर के रूप में काम करने लगे। कुछ दिन काम करने के वाद इन्होने ये नौकरी छोड़कर MBA में अपना एडमिशन  करवा लिया 

2002 में सुन्दर पिचाई ने  WHARTON  UNIVERSITY  OF PENNSYLVANIA   से MBA की डिग्री प्राप्त किया और  और मैकेंसी कम्पनी में नौकरी पकड़ लिया। 

उनके बैवाहिक जीवन –

जॉब के कुछ दिन वाद ही अपनी IIT  के बैच मेट अंजलि से शादी कर लिया 

सुन्दर पिचाई के जीवन का नया  दौर –

सन 2006 में सुंदर पिचाई ने गूगल में प्रेसिडेंट ऑफ़ प्रोडक्ट मॅनेजमेंट के पोस्ट  पर नौकरी ज्वाइन कर लिए। 2006 में ही गूगल ने अपना gmail लांच किया जो एक फ्री मेल सर्विस था 

सुन्दर पिचाई की success jurny  –

google ज्वाइन करने के वाद सुंदर पिचाई का प्रोजेक्ट एक  गूगल टूल बार पर काम करने का था। एक टूल बार उस समय इस टूल वॉर का इम्पोर्टेन्ट कार्य काफी महत्पूर्ण था इस टूल बार की मदद से इंटरनेट explolar को एक डिफ़ॉल्ट  गुल को एक सर्च इंजन बनाने ऑप्शन आता था। eric schmidt  और larry page को सुन्दर पिचाई ने बोला tool bar प्रोजेक्ट तो ठीक है लेकिन हमे अपना खुद का brawser  भी बनाना चाहिए ये  बात larry पेज  और एरिक को उतना खाश नहीं लगा और वो बोला इंटरनेट एक्स्प्लोरर  मार्किट में पहले से ही अच्छे brawser के तौर पर काम करता। है हम अपना ब्रौज़र बनाकर कुछ खाश नहीं कर पाएंगे तुम अभी सिर्फ गूगल टूल बार पर ही धय दो और इसी प्रोजेक्ट पर काम करो। 

तब सुंदर पिचाई ने कहा माइक्रोसॉफ्ट एक दिन खुद का सर्च इंजन बना लेगा इससे पहले हमे अपना ब्रौज़र बना लेना चाहिए उनके इस बात पर भी एरिक और larry ने ज्यादा ध्यान नहीं दिया। उन्हें सिर्फ गूगल टूल बार पर ही फोकस करने को कहा |

एक दिन वही हुआ जो सुंदर पिचाई ने पहले ही कह दिया था तभी एक रात माइक्रोसॉफ्ट ने इंटरनेट एक्स्प्लोरर से गूगल को हटाकर bing को डिफ़ॉल्ट सर्च इंजन बना लिया। एक ही रात में गूगल अपना ३०० custmer लूज़ कर दिया तब तक सुन्दर पिचाई की टीम almost toolbar  बना चुकी थी बचा हुआ काम कम्प्लेट करके तुरंत बाद टूल बार  मार्किट में लंच कर दिया। इस टूल बार से लोगो को सर्च में काफी मदद मिली ऑल गूगल ने अप्पन 80 % कस्टमर  वापस ले आया। तब larry पेज को सुन्दर पिचाई की वेल्यू समझ आ गयी थी। 

इस घटना से larry  और eric  की पहले कही हुयी बात समझ आ गया और वो brawser  वाला प्रोजेक्ट मानने  के लिए मजबूर कर दिया। और उसके बाद google crome  की शुरुआत हुयी और कुछ दिन बाद 2008 में sunder pichayi की टीम ने क्रोमे भी लंच कर दिया। 

कुछ ही टाइम बाद ये दुनिया का most वेब brawser  बन गया यह उसके लिए सबसे बड़ा सक्सेस  रहा। इससे सुंदर पिचाई की बहुत तारीफ हुयी उसी साल इनसे वाइस परसिडेंट ऑफ़ प्रोडेक्ट डेवलोपमेन्ट की पोस्ट पे प्रोमोट कर दिया। 2012 में इनसे सीनियर परसिडेंट ऑफ़ crome  और  एक साल बाद इन्हे एंड्राइड प्रोजेक्ट को  भी लीड करने का काम सौपा गया। जहां इन्होने एंड्राइड फस्ट की शुरुआत की और 5 बिलियन लोगो लत इस os को पहुंचाया इसके बाद फिर इन्हे प्रोमोट कर दिया गया। और हेड ऑफ़ पोस्ट दे दिया गया। 

2014 में इतने करने के वाद इन्हे twitter  microsoft  जैसे बड़े कंपनी से सीईओ के लिए ऑफर आने लगे थे लेकिन बात ये है की इतने कुछ मिलने के वाद भी इन्होने गूगल को नहीं छोरा है 2015 में आखिर इन्हे सीईओ के पोस्ट पैर गूगल में ही इनको प्रोमोट कर दिया गया यही नहीं 2019 में इन्हे अल्फावेट का भी सीईओ बना दिया गया है। अभी सुंदर पिचाई वोर्ल्ड के पावर फुल लोग में से माने जाते है। सुंदर पिचाई का एनुअल सैलरी 20lakh us  डॉलर है। 

कैसा लगा उनके जीवन के बारे में जान कर कमेंट  जरूर बताये|

ये भी देखें : माइकल जैक्सन जीवनी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close Bitnami banner
Bitnami