dr rajendra prasad quotes

dr rajendra prasad quotes,biography,shayari, in hindi

dr rajendra prasad quotes-इस पोस्ट में देशरत्न से सम्मानित और भारत के प्रथम प्रधानमंत्री डॉ राजेंद्र प्रसाद जी के जीवन और उनके कुछ बेहरतीन बिचारो को साझा किया गया है -Best rajendra prasad Quotes, Status-dr rajendra prasad par nibandh-डॉ राजेंद्र प्रसाद पर भाषण-rajendra prasad motivational Quotes in hindi

dr rajendra prasad biography in hindi

डॉ राजेंद्र प्रसाद का जन्म 3 दिसंबर 1884 में बिहार के छपरा जिले के जीरादेहि नामक गाँव में एक कायस्त परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम महादेव सहाय था और माताजी का नाम कमलेश्वरी देवी था। राजेंद्र प्रसाद जी के पिता संस्कृत और फ़ारसी के विद्वान थे और माता जी धर्मनिष्ट महिला थी जो की अपने बेटे राजेंद्र जी को बचपन में महाभारत और रामायण की कहानी सुनाया करती थी उनके माँ बचपन में ही मर गयी उनका लालन पालन उनके बड़ी बहन ने किया।

उन्होंने शुरुआत की पढाई गांव से ही किये और कलकत्ता विश्व विद्यालय से MA और LLB की डिग्री हांसिल किये वे हमेशा सभी परीक्षाओ में प्रथम श्रेणी से ही उत्तीर्ण हुए वे कुछ दिन तक मुजफ्फरपुर कॉलेज में अध्यापक रहे और उसके बाद पटना और कोलकाता हाईकोट में वकील भी रहे। राजेंद्र प्रसाद जी गाँधी के आदर्श सिद्धांत और आज़ादी के आंदोलन से बहुत प्रभावित थे। और इसी कारन से वे वकील की नौकरी छोड़कर चम्पारण के आंदोलन में भाग ले लिया।

dr rajendra prasad quotes in hindi for student

राजेंद्र प्रसाद जी तीन बार भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सभापति रहे सदा जीवन उच्च विचार इनके जीवन का मूल मंत्र था इनके निष्पक्षता प्रतिभा और ईमानदारी के कारन भारत के प्रथम राष्ट्रपति नियुक्त कर दिये गए भारत सरकार ने उन्हें भारत रत्न पुरस्कार से सम्मानित किये इन्होने अपने जीवन में राष्ट्र के लिए बहुत काम किये उन्होंने अपने जीवन के अंतिम कुछ महीने पटना के सदाकत आश्रम में समय बिताये और 28 फरवरी 1963 को उनका निधन हो गया

कोई मुझे एक तरफ धकेल नहीं सकता।

अभिनेता पेड़ों के चारों ओर दौड़ने के लिए नहीं जा सकते।

एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में उम्र का बहुत महत्व होता है।

मुझे पता है कि मैं वह सब नहीं कर सकता जो मैंने दस साल पहले किया था।

इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि मैं अपनी उम्र को भी समझता हूं और इसकी सराहना करने की बेहतर स्थिति में हूं।

40+अटलजी की कविता

अब मैं इस बात को लेकर सावधान हूं कि मैं किस तरह की भूमिकाएं करता हूं।

डॉ राजेंद्र प्रसाद quotes in hindi on education

मेरा मतलब यह है कि आज की फिल्में ग्लैमर और उससे जुड़ी भावनाओं पर बहुत जोर देती हैं।

किसी को अपनी उम्र खेलना सीखना चाहिए।

अपने आदर्शों को प्राप्त करने में हमारा साधन साध्य के समान पवित्र होना चाहिए!

जो बात सिद्धांत में गलत है वो व्यवहार में भी सही नहीं है।

मंजिल पाने की दिशा में आगे बढ़ते हुए याद रखना चाहिए की और बढ़ता रास्ता भी उतना ही नेक हो।

किसी की गलत मंसाए आपको किनारा नहीं ले जा सकते।

जो मैं करता उन सभी भूमिका के बारे में सावधान रहता हु।

हर किसी को अपने उम्र के साथ सिखने के लिए खेलते रहना चाहिए।

खुद को अपने उम्र पर कभी हावी नहीं होने देना चाहिए।

मुझे पता है की मैं वह सब नहीं कर सकता जो मैं दस साल पाहले किया था।

जिस देश को अपनी भाषा और साहित्य के गौरव का अनुभव नहीं हो वह उन्नत नहीं हो सकता।

Leave a Comment

Your email address will not be published.