Neeraj Chopra Biography In Hindi

Biography of Neeraj Chopra | नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय

Biography of Neeraj Chopra | नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय 

Neeraj Chopra Biography In Hindi

ये कहानी उस भारतीय महान एथलीट्स की है जिन्हे आज हर भारतीय सलाम कर रहा है कहते हैं की    अरबो उम्मीद को कुछ यु संभाला उसने , जीत का जज़्बा रखा और फेक दिया भाला उसने ,मेहनत के दम पर सफलता को भेद दिया उसने  तीब्र गति से भाला फेक कर इतिहास को छेद दिया उसने। ये कहानी  ओलम्पिक में पहले गोल्ड लाने वाले नीरज चोपड़ा की है  जो आज किसी पहचान के मोहताज़ नहीं हैं। इनसे पहले एक शूटर एथलीट्स अभिनव बिन्द्रा  जो 2008 में के ओलम्पिक में  इंडिया के लिए गोल्ड लाये थे। गोल्ड लेकर  इतिहास रचने वाले नीरज को पहले ठीक से लाखो लोग भी नहीं जानते थे लेकिन  गोल्ड जितने के वाद रातो रत फेमस हो गए और करोड़ो लोगे के दिल पर राज़ करने लगे आज हम उन्ही के जीवन के बारे में जानेगे-

 नीरज चोपड़ा का प्रारंभिक जीवन ( Neeraj Chopra’s Early Life ) –

                                                                           24 दिसंबर 1997  को हरियाणा के  पानीपथ स्थित खंद्रा गांव में नीरज चोपड़ा का जन्म हुआ था। नीरज एक किसान परिवार से हैं उनके पिता एक किसान हैं और माता एक गृहणी है। नीरज बचपन में मोटापे के शिकार हो गए थे। कुछ लोग तो उन्हें मोटा कह के पुकारते थे। उनके पिता का कहना था की नीरज की विचार बचपन से ही अलग थी उसे किसी को मोटा कहने या किसी के चिढ़ाने से कोई फर्क नहीं पड़ता था। नीरज बचपन से ही पढ़ाई और खेल पर अधिक रूचि रखते थे। 

13 साल की उम्र में नीरज की मोटापा बहुत अधिक बढ़ने लगा था। उनके परिवारों का कहना है की उनके चाचा उन्हें मोटापा कम करने के लिए  उन्हें मैदान में दौर लगवाने के लिए ले जाया करते थे। 

उनके चाचा का कहना है की जब वो उन्हें स्टेडियम दौर  के लिए ले जाते थे तब स्टेडियम में कुछ खिलाडी भाला फेका करते थे। ये खेल नीरज को बहुत अच्छा लगता था और उसने बचपन से ही भाला फेकना शुरू कर दिए थे. 

 नीरज चोपड़ा का प्रारंभिक शिक्षा ( Neeraj Chopra’s Early Education ) –

नीरज  शुरुआती स्कुल  की पढ़ाई पानीपथ से ही किये हैं। और स्कुल की पढ़ाई ख़त्म करने के वाद उन्होंने  BBA की ड्रिग्री हांसिल किये। 

कैरियर की शुरुआत ( Neeraj Chopra Career ) –

2012 में जब नीरज का उम्र 15  साल था तब उन्होंने तब उन्होंने एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। 

2016 में   पोलैंड में हुए IAAF अंडर 20  वर्ल्ड चैंपियनशिप में 86.48 मीटर दूर भाला फेक गोल्ड मेडल अपने नाम किया। ये गोल्ड मैडल जितने के वाद नीरज को जूनियर कमीशन ऑफिसर के तौर पर भारतीय सेना में नौकरी मिल गयी। 

ये नौकरी मिलने के वाद नीरज और उनके परिवार में एक ख़ुशी जाग गयी नीरज ने कहा मैं किसान फैमिली से हु में परिवार में आजतक कोई सरकारी नौकरी नहीं की है ये मेरे और मेरे परिवार के लिए बहुत बड़ी बात है। जिससे मेरे परिवार को आर्थिक मदद मिल जाएगी। 

नीरज कभी रुके नहीं और अपनी मेहनत को हमेशा बरक़रार रखा और  2018 के हुए एशियन गेम्स में उन्होंने 88 मीटर  से ज्यादा दूर भाला फेक कर   एक और गोल्ड मैडल जीत लिया।  

इनके बाद 2018 में हुए कॉमन वेल्थ गेम्स में  भी उन्होंने मैडल जीता था  उस समय  नीरज अपनी कामयाबी  की सिखर को छू रहा था तब ही एक घटना हो गयी जिसमे नीरज कंधे के चोट की शिकार हो गए। चोट लगने के बाद नीरज लगातार 2 साल तक अपने प्रेक्टिस से दूर रहे। 

2 साल आराम करने के वाद जब नीरज पूरी तरह ठीक हो गए तब उन्होंने  फिर से प्रेक्टिस करना शुरू  कर दिए। 

2020 में होने वाले ओलम्पिक जो कोरोना कल के कारन नहीं हो पाया  जो समय बढाकर 2021 में हुआ  जिससे नीरज को प्रेक्टिस करने में समय मिल गया। 

उन्होंने ओलम्पिक में क़्वालिफ़ाइ  किये और जैबलिन में 87 .58 मीटर दूर भाला फेक कर भारत को गोल्ड मेडल दिला  लाकर इतिहास रच दिया। 

नीरज चोपड़ा के बारे में महत्पूर्ण  तथ्य –

नीरज का कहना है की जब मेहनत कर के थकावट न हो , मेहनत के अलावा कुछ अच्छा न लगे  जब  खुवाईश  न दे।  ,  तब समझ लेना की इतिहास रचने वाला है। 

गोल्ड जितने के वाद नीरज को सोहरत के साथ पैसो की बौछार भी हो गया। 

हरियाणा  सरकार द्वारा नीरज  चोपड़ा को 7 करोड़ रूपये और 1st  क्लास की नौकरी देने का ऐलान किया गया। 

पंजाब की मुख्यमंत्री अमरेंदर सिंह ने पंजाब की तरफ से  2 करोड़ रूपये  और मणिपुर सरकार ने नीरज को 1 करोड़ रूपये आईपीएल  की टीम  csk  ने  1 करोड़ और बी सी सी आई ने भी 1 करोड़   देने का ऐलान किया। 

 इसके अलावा इंडिगो कंपनी ने नीरज को 1 साल फ्री टिकट की घोसना की और महिंद्रा ग्रुप के चेयरमेन आनंद महिंद्रा ने  अपने कंपनी ने नया लंच कार XUV 700  देने का घोसना  किया। 

एक समय था जब नीरज चोपड़ा के पास भाला खरीदने के भी पैसे मुश्किल से जमा हुए थे।   

जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीरज से पूछा गया की है अपना हेयर स्टाइल किस एक्टर से प्रभावित होकर रखे हैं तब उन्होंने जबाब दिया मैं खुद हीरो हु और मैं खुद से प्रभावित हु। 

बचपन में नीरज को हर भारतीय बच्चे की तरह उन्हें भी सिर्फ क्रिकेट खेलना ही  पसंद था। 

नीरज जब अपने चाचा के साथ मैदान में दौर लगाने जाते थे तब उन्होंने कुछ खिलाडी को भाला फेकते देखे  और ये देख कर उन्हें ये खेल बहुत  पसंद आये और वे भी इसी में अपना कैरियर बनाने का फैसला  लिया  जिसका नतीजा  आज  भारत को पहला गोल्ड मैडल मिला। 

उम्र –

नीरज चोपड़ा का उम्र अभी 23 साल हुए हैं उन्होंने  अभी तक   शादी नहीं किये   हैं  

ये भारत के असली हीरो जो आये लाखो भारतीय के दिल पर राज करते हैं  के युवा के लिए एक प्रेरणा  भी है।  कैसा लगा नीरज चोपड़ा के बारे में जानकर कमेंट कर के जरूर बताये 

Durga Puja Shayari | माँ दुर्गा की शायरी – Maa Durga Shayari in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close Bitnami banner
Bitnami