Quotes in hindi (2022)-life quotes

Quotes in hindi (2022)-life quotes 1000+हिंदी कोट्स

quotes in hindi-इस पोस्ट के अंदर महान लोगे के विचार को साझा किया गया है quotes in hindi about life-quotes in hindi attitude-quotes in hindi for friends-quotes in hindi on education-life is beautiful quotes in hindi-quotes in hindi on success-quotes in hindi on smile-quotes in hindi on education-quotes in hindi images, quotes in hindi meaning

quotes in hindi about life

समय बदलने पर लोगो की आँखे बदल जाती है –जयशंकर प्रसाद।

मन में संतोष का होना स्वर्ग प्राप्ति से बढ़कर है। –महाभारत

लोभ दुःख लाता है संतोष में आनंद है। -रामकृष्ण परमहंश

मैंने समय को नष्ट किया और समय मुझको नष्ट कर रहा। –शेक्सपियर

बहुत लोग तब तक अच्छे रहते हैं जब तक वो सोचते हैं की दूसरे भी अच्छे हैं। -हिब्बल

सबसे अधिक प्राप्ति उसी को होता है जो संतुष्ट होता है। -शेक्सपियर

संतोष तो प्रयाप्त करने में है उपलब्धियों में नहीं। –महात्मा गाँधी

बलवान बनने के लिए जरुरी बात है सैयाम। –विनोवा भावे

मधुर संगीत आत्मा के ताप को शांत कर देता है। -महात्मा गाँधी

प्रतिभा एक प्रकार का आवरण है और आचरण भी एक प्रकार का आवरण है।-नीत्शे

प्रतिभा के लिए आवशय है धैर्य। -डिजरायली

मनुष्य के कह को हरपना बंधन है। -रबीन्द्रनाथ ठाकुर

समस्त पुरुष माध्यम वर्ग में उत्पन्न होते हैं। -इमर्सन

जो प्रिय बस्तु के बंध से मुक्त है उसे न शोक है न भय। -बुद्ध

जो कर्म यज्ञ के लिए किए जाते हैं उनके अतिरिक्त अन्य कर्मो से इस लोक में बंधन पैदा होता है। -श्रीमदभागवद गीता

बड़ा आदमी वही है जो गुस्से में औल फौल नहीं बकता। -शेख सादी

छोटी बातो में खड़ा होना ही सच्चा बड़प्पन है। -डॉ सैम्युअल जॉनसन

प्रसिद्धि वीरता के कर्मो का महक है -सुकरात

भोजन के लिए सबसे अच्छी चटनी भूख है। -सुकरात

भूल करने में पाप है ही परन्तु उससे छिपाने में उससे बड़ा पाप है। -महात्मा गाँधी

भोग से आत्मा का शोसन होता है त्याग से आत्मा का पोषण होता है। -विनोबा भावे

मन में जब एक भ्रम प्रवेश होता है तो उसका निकलना कठिन हो जाता है। -प्रेमचंद

इस कथन में बड़ी सचाई है की आदमी जैसा भोजन लेता है वैसा बन जाता है। -महात्मा गाँधी

quotes इन hindi for life

संसार रूपी इस बाटिका में फूलो के अतिरिक्त कुछ नहीं है अपना भ्र्म ही एक काटा है। -स्वामी रामतीर्थ

आत्म बलवाले मनुष्य बड़े से बड़े कार्य में भी अवसन्न नहीं होते। -बाल्मीकि रामायण

आपात काल में मन को डवांडोल होने नहीं देना चाहिए। -महावीर स्वामी

सत्रु द्वारा की गयी सर्वोत्तम प्रसंसा कृति है। -टामस मुर

लम्बी चौरी पढ़ाई के बीच प्रतिभा दबकर मर जाती है। -विनोबा भावे

लगन के बिना किसी में भी महान प्रतिभा उत्पन्नं नहीं हो सकती। -अरस्तु

ज्ञान के शीतल प्रकाश में प्रेम का पौधा कभी कभी उगता है। -कांट

विवेक बहादुरी का उत्तम भाग है। -शेक्सपियर

शत्रुओ को क्षमा करना बदले का सबसे उत्तम साधन है। -अज्ञात

अग्नि सोने को परखती है और अज्ञात बहादुर को। -सेनेका

बलवान होने से बड़प्पन नहीं है अपितु बल का सदुपयोग करने में बड़प्पन है। -एच् डब्लू पिचर

बदला साहस नहीं परन्तु उसका सहना सहस है। -शेक्सपियर

प्रेम में हम सब समान रूप से मुर्ख हैं। – गेटे

प्रसिद्धि बीरता के कर्मो की महक है। -सुकरात

प्रेम के सिवा तू किसी परमात्मा को न मान। -मूसा

जब तक मनुष्य रहेंगे तब तक बुराई रहेगी। -टैसिटस

भाग्य जिसे प्यार करता है उसे मुर्ख बना देता है। -बेकन

मनुष्य जिससे भय खता है उससे प्रेम नहीं करता। -अरस्तु

ईश्वर का भय ही ज्ञान का उदय है। -बाइबिल

बुराई का संपर्क हमारी अच्छी आदतो को भी दूषित कर देता है। -बाइबिल

भाग्य एक बाजार है जहां कुछ देर ठहरने से आम तौर पर भाव गिर जाता है। -बेकन

भाषा विचारो में लिवाश करता है। -जॉनसन

प्रेम भगवान् का सर्व श्रेठ बरदान है। -वाल्टेयर

मनुष्य के चरित्र का पता उसके बातचीत से ही चल जाता है। -मिनेण्डर

यदि स्वर्ग में पहुंचने की इच्छा है तो पहले बालक बनो। -इंजील

खली पेट कोई व्यक्ति बुद्धिमान नहीं हो सकता। -ईलियट

कोट्स in hindi on love

,मनुष्य सचमुच बुद्धिमान है जो क्रोध की हालत में भी बुरी बात मुँह से नहीं निकलता। -शेख सादी

भाग्य पर वह भरोसा करता है जिसमे पौरुष नहीं है। -प्रेमचंद

जो दुसरो की भलाई चाहता है उसने करने से पूर्ब अपना भला लिया। -कन्फूसियस

यदि हम भले हैं तो सारा संसार हमारे लिए भला है। -गुरु रामदास

भाषा एक शहर है जिसके निर्माण के लिए प्रत्येक व्यक्ति एक पत्थऱ लाया। -इमर्शन

मांगने भिक्षुक को देना श्रेष्ठ है किन्तु बिना मांगे स्वं भिक्षुक को खोज करके देना सर्वश्रेष्ठ है। विनोवा भावे

यदि मनुष्य सीखना चाहे तो उसकी प्रत्येक भूल उसे कुछ न कुछ शिक्षा दे सकती है। -डिकेन्स

अपनी भूल अपने हाथो सुधर जाए तो यह उससे कहि अच्छा है की कोई दूसरा उसे सुधरे। प्रेमचंद

तुम भयभीत और चंचल मत बनो ,ह्रदय की अस्फुर्ति और सकती धारण करो। -यजुर्वेद

भोग को सिमित और कम करने में ही सम्पति का यथार्थ गौरव है। -रवींद्र नाथ ठाकुर

भोग को नष्ट करके योग साधेगा यह भ्रांत धारणा है। -जैनेन्द्र कुमार

भूख का अच्छा नियंत्रण स्वतंत्रता का एक बड़ा भाग है। -सेनेका

भिक्षुक को भीख मिलने की आशा हो तो वह दिन भर और रात-भर डाटा के द्वार पर खड़ा रहे। -प्रेमचंद

मदिरा और यौवन आग पर आग है। -फील्डिंग

शराब से अकेलापन सपनो में ज़रा खो रहता है असल में मिलता नहीं। -जैनेन्द्र कुमार

सच्ची महानता ह्रदय की पवित्रता में है इसमें नहीं की कोई तुम्हारे बारे में क्या कहता है। -समर्थ गुरु रामदास

आसमान का गोलार्ध मेरा प्याला है और चमकती हुयी रौशनी मेरा शराब। -स्वामी रामतीर्थ

कुछ जन्म से ही महान होते हैं कुछ महानता प्राप्त करते हैं कुछ लोगो को महानता लाद दी जाती है। –शेक्सपियर

खुदा की नजर में जो लोग अज़ीज़ है जिनका इखलाक बुलंद है। –हजरत मुहम्मद

quotes in hindi on life

मनुष्य ठीक उसी मात्रा में महान बनता है ,जिस मात्रा में वह मानव कल्याण के लिए श्रम करता है। –सुकरात

जैसे सूर्य आकाश में छिपकर नहीं विचार सकता ,वैसे ही महान पुरुष संसार में छिपकर नहीं रह सकते। –महाभारत

महान पुरुषो की संपत्ति दुःखियो के दुःख दूर करने के काम आती है। –मेघदूत

माता और मातृभूमि का महत्वा स्वर्ग से भी अधिक है। -बाल्मीकि

मनुष्य उतना ही महान होगा जितना वह अपनी आत्मा से सत्य त्याग ,दया ,प्रेम ,और शक्ति का विकास करेगा। -स्वेट मार्डेन

माँ के संस्कार से ही बच्चे का भगय है। -नेपोलियन

भीख मांगने से हांड़ी तो चढ़ जाती है ,परन्तु मनुष्य का गौरव गिर जाता है। -शेखसादी

जो कुछ मांगना है खुदा से मांग ए अकबर। यह वो दर है की जिल्लत नहीं सवाल के बाद। -अकबर

भूमि मेरी माता है और मैं पृथ्वी पुत्र हु -अथर्ववेद

कोई मनुष्य मानवता से बड़ा नहीं है। -पार्कर

सभी प्राणियों को मित्र की दृस्टि से देखो। -यजुर्वेद

न्याय नहीं बल्कि त्याग और त्याग ही मित्रता का नियम है। -महात्मा गाँधी

उससे कभी मित्रता न कर जो तुझसे बेहतर नहीं। -कन्फूसियस

अगर जीते जी तुम्हारे बंधन न टूटे तो मरने पर मुक्ति की आशा क्या की जा सकती है। -कबीर

अच्छे आदमियों के लिए वांछित मित्र की प्राप्ति ही सबसे बड़ी उपलब्धि है। -मेघदूत

न्याय नहीं बल्कि त्याग और केवल त्याग ही मित्रता का नियम है। -महात्मा गाँधी

परमेश्वर के बिना मुक्ति पाने का कोई मार्ग नहीं है। -दयानन्द

जब तक संसार में कीट पतंग आदि की मुक्ति न हो जाएगी तब तक मैं अपनी मुक्ति का आकांक्षा नहीं करता। –गौतमबुद्ध

एक की मूर्खता से दूसरे का भाग्य बनता है। -बेकन

अभागो को देखो तुम उन्हें मुर्ख पाओगे। -यंग

बेस्ट कोट्स हिन्दी में जो ज़िंदगी बदल देगा।

कर्म को स्वार्थ की ओर से परमार्थ की ओर ले जाना ही मुक्ति है। -कर्म का त्याग मुक्ति नहीं है। -रवीन्द्रनाथ ठाकुर

मृत्यु थकावट के समान है किन्तु सच्चा अंत तो अनंत की गोद में ही है। -रविंद्रनाथ ठाकुर

जी से जहां अच्छा है जब आबरू ही न रही तो जीने पर धिकार है। -महात्मा गाँधी

अवलम्बित होना और आश्रित होना जीवन में सबसे अधिक अपमान जनक होता है। -भगवतीचरण वर्मा

माया ईश्वर की शक्ति है फिर भी अनिर्वचनीय पदार्थ है। -शंकराचार्य

मृत्यु से सुन्दर और कोई घटना नहीं हो सकता। –वाल्ट हिटमैन

मोक्ष के चार द्वारपाल हैं श्म ,विचार संतोष और सत्संग -योगवशिष्ठ

मृत्यु भयानक इसलिए है की हमने इससे घनिष्ट परिचय देने का प्रयाश ही नहीं किया। -मेरी बेल

मौन कभी कभी वाणी से अधिक मुखर होता है। –महात्मा गांधी

आपदा में मौन रहना अधिक श्रेयस्कर है। –ड्राइडेन

मृत्यु से भयभीत होना कायरो का काम है,कारन बास्तविक जीवन से मृत्यु ही है। –अज्ञात

हमारे पवित्रतम विचारो का मंदिर मौन है। –श्रीमती हेल

मौन और एकांत आत्मा के सर्वोत्तम मित्र है। –लॉन्ग फैलो

दुःख की याद केवल ख़ुशी को मधुर बना देती है। -पोलक

मौन निंद्रा के समान है क्योकि ये ज्ञान को ताज़ा कर देता है। -बेकन

वासना की दीवानगी थोड़ी देर रहती है किन्तु उसका पछतावा बहुत देर।– शिलर

मन को बिकार पूर्ण रहने देकर शरीर को दबाने की कोशिस करना हानिकर है।

विद्या के सामने दूसरी तरह की दौलत कुछ भी नहीं है। –अध्यात्म रामायण

जो मिटटी में भी सोना बनाते हैं वही व्यवहार कुशल है। -डिजरायली

जो व्यापर सावजनिक व्यापर है वह किसी का व्यापार नहीं। –आइज़क वाल्टन

विकास ही जीवन है संकोच ही मृत्यु है। –विवेकानन्द

सुकर्म विद्या का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए। –सिडनी

विद्वान ज्ञान के जलाशय हैं स्रोत नहीं। –नार्थ कोट

quotes in hindi about love

विनम्रता स्वंय का ठीक-ठीक मूल्याकन है। -स्वर्जन

विपत्ति कभी अकेले नहीं आती। –स्वामी रामतीर्थ

बिफलता निराश का संकेत नहीं बल्कि नई प्रेरणा है। -साउथ

जितनी बार हमारी विफलता हो उतनी बार उठने में गौरव है। –महात्मा गाँधी।

वियोग ह्रदय को और अधिक आशक्त बना देता है। -टामसन हेंसवाली

एक सत्य दूसरे सत्य का विरोध नहीं करता। –हूकर

दुरी मित्रता को प्रिय बना देती है और विरह उसे मधुर बना देता है। -हावेल

कठिन विरह भी मिलन की आशा में सहन हो जाता है। -कालिदास

विवेकशील कीचड़ में पड़े रत्न को भी सहन करते हैं। -हरिऔध

विरोध उत्साही व्यक्तियों को सदा उत्तेजित करता है बदलता नहीं। -शिलर

परिश्रम का परिवर्तन ही विश्राम है यह बहुत सत्य है। -महात्मा गाँधी।

विश्वास जीवन है और अविश्वास मृत्यु। -रामकृष्ण परमहंश

कार्य के लिए विश्राम वैसा नहीं है जैसा नेत्रों के लिए पलकों का होना। –रविंद्र नाथ ठाकुर

विश्राम परिश्रम की मधुर चटनी है। -कपूर

बिना विश्वास के कार्य करना सतहहिन् गद्दे में गिरने के समान है। –महात्मा गाँधी

हम विश्वास के आधार पर चलते हैं दृस्टि के आधार पर नहीं। -बाइबिल

बेदान्त के अनुशार यह निद्रावस्थ और जाग्रत अवस्था भी माया और भ्र्म के सिवा कुछ नहीं है। -स्वामी रामतीर्थ

मृत्यु से सुन्दर और कोई घटना नहीं हो सकता। -वाल्ट हिटमैन

मोक्ष के चार द्वारपाल हैं श्म ,विचार संतोष और सत्संग -योगवशिष्ठ

मृत्यु भयानक इसलिए है की हमने इससे घनिष्ट परिचय देने का प्रयाश ही नहीं किया। -मेरी बेल

मौन कभी कभी वाणी से अधिक मुखर होता है। -महात्मा गांधी

आपदा में मौन रहना अधिक श्रेयस्कर है। -ड्राइडेन

मृत्यु से भयभीत होना कायरो का काम है,कारन बास्तविक जीवन से मृत्यु ही है। -अज्ञात

हमारे पवित्रतम विचारो का मंदिर मौन है। -श्रीमती हेल

मौन और एकांत आत्मा के सर्वोत्तम मित्र है। -लॉन्ग फैलो

दुःख की याद केवल ख़ुशी को मधुर बना देती है। -पोलक

Hindi Quotes About love Life

मौन निंद्रा के समान है क्योकि ये ज्ञान को ताज़ा कर देता है। -बेकन

यौवन विकारो को जितने के लिए बना है उसे व्यर्थ ही न जाने दे। -महात्मा गाँधी

जिन्होने राष्ट्रों का निर्माण किया उनकी कृति अमर हो गयी। -प्रेमचंद

राष्ट्रीयता भयानक रूप से संक्रामक बीमारी है। -आईन्स्टीन

रिश्वत के धन से न्यायधीश और सीनेट के सदस्य भी ख़रीदे गए हैं। -पॉप

अधिक जनसंख्या होने से या दूसरे देशो को हरपकड़ कोई भी राष्ट्र शक्तिशाली नहीं हो सकता है। –रसिक्न

आपने युवाकाल के सपनो के प्रति वफादार रहो। -शिलर

प्रत्येक व्यक्ति विश्व का एक रहश्य है। -जे सी पेविस

जिसमे सेवा की योग्यता है वह कभी बुरा नहीं होता। -बर्क

युद्ध ऐसा धंधा है जिसमे मनुष्य सम्मानपूर्वक नहीं रह सकता। -मैकियावली

संसार में आजतक अच्छा युद्ध और बुरी शांति कभी नहीं हुयी। -फ्रेंकलिन

वे धन्य है जो निर्धनों का भी ध्यान नहीं रखते हैं। -बाइबिल

लज्जा नारी का सबसे कीमती आभूषण है। -कोल्टन

लिखते तो वे लोग हैं जिनके अंदर कुछ दर्द है। प्रेमचंद

महान लेखक अपने पाठक का मित्र और सुभचिन्तक होता है। -मैकाले

यह बात याद रखनी चाहिए की व्यर्थ की लज्जा आवश्यक लज्जा को मार डालती है। -रविंद्रनाथ ठाकुर

आदमी केवल रोटी से नहीं जीवित रहता। –बाइबिल

लगन से ज्ञान मिलता है लगन के आभाव से ज्ञान खो जाता है। -बुद्ध

लिखते तो वे लोग हैं जिनके अंदर कुछ दर्द है। -प्रेमचंद

लेखक की लेखनी उसकी मस्तिष्क की जिन्ना है। –सर्वोविस

महान लेखक अपने पाठको में मित्र और सुभचिन्तक होता है। -मैकाले

धनहीन व्यक्ति को जब कास्ट निवारण का कोई उपाय ही नहीं रह जाता तो वह लज्जा को त्याग देता है। –प्रेमचंद

गरीब रोटी ढूंढता है और अमीर भूख। -डेनिश कहावत

लोकप्रियता से बचो इसमें से बहुत से फंदे हैं मगर कोई सच्चा नहीं है। -पैन

quotes in hindi meaning

वक्त सबसे अधिक परामर्शदाता है। –पेरी क्लीज़

वक्त और समुद्र की लहरे किसी का इन्तजार नहीं देखती है। -कहावत

लाभप्रद और चिंतादर्शक वचन बहुत दुर्लभ होता है। -भारती

हंसी मजाक में भी करवे वचन आदमी के दिल में चुभ जाता है। -तिरुवल्लुवर

जो बर्तमान की उपेक्षा करता है वह अपना सबकुछ खो देता है। -शिलर

कर्तव्य और बर्तमान हमारा है फल और भविष्य ईस्वर का है। -होरेंस ग्रेले।

कोई तलवार इतनी बेदर्दी से नहीं काटती जितना की व्यंग। -सर पी सिडनी

जो वाणी को सत्य संभालती है वे वाणी को सत्य संभाला है। -विनोवा भावे

संसार रूपी करवे बृक्ष के दो फल अमृत के समान है। सरस तथा प्रिय वचन और सज्जनो की संगती। –चाणक्य

व्यंग तेज कृपण की भांति अपने मालिक की ही अंगुलीयो को काट देता है। एरोस्मिथ

व्यंग और तना मेरे समझ में सैतान की भाषा है इसी से बहुत दिनों से मैंने उसे छोड़ दिया है। -कार्लाइल

परस्पर व्यवहार ही विकाश की आत्मा है। -बक्सटन

विकास ही जीवन है संकोच ही मृत्यु है। -स्वामी विवेकानन्द

एकमात्र विद्या ही परम् तृप्तिदायनी है। -महाभारत

विद्वान ज्ञान का जलाशय है स्रोत नहीं। -नार्थ कोट

विद्वान वे व्यक्ति है जो अपने ज्ञान के अनुसार आचरण करते हैं। –हज़रात मुहम्मद

हम अत्यंत बिनम्रा होकर ही बड़ो का कुछ समता कर सकते हैं। -रविंद्र नाथ ठाकुर

विनम्रता स्वं का ठीक ठीक मूल्याङ्कन है। -स्वार्जन

अपनी सकती में विश्वास रखना ही शक्तिवान होना है। -स्वामी दयानन्द सरस्वती

आत्मा का आनंद उसकी सकती का प्रचारक है। -एमर्सन

ह्रदय की कोई भाषा नहीं हृदय ह्रदय से बातचित करता है। -महात्मा गाँधी

आपार धनशील कुवेर भी यदि आयसे व्यय करने लगे तो निर्धन हो जाता है। -चाणक्य

उत्साह से बढ़कर दूसरा कोई बल नहीं है। बाल्मीकि

वाणी ही मनुष्य का एक ऐसा आभूषण है जो अन्य आभूषणो की तरह कभी घिसता नहीं है। -महर्षि भृतहरि

quotes in hindi attitude

जो फुट डालती है भेद बढ़ती है वही हिंसा है। -बिनोवा भावे

बिना ज्ञान के सही स्वतंत्रता नहीं मिलती। –महात्मा गाँधी। –

आदर सत्कार मिलने से तृप्ति होती है केवल भोजन से नहीं। -चाणक्य

क्षमा कर देना दुसमन पर बिजय कर लेना है। -हजरत अली

जो ज्ञान मन को सुद्ध करता है वही ज्ञान है शेष सब अज्ञान है। –रामकृष्ण परमहंश

ज्ञानी ही सत्य को देख सकते हैं अज्ञानी नहीं। -ऋंगवेद

तपस्वी और त्याग की सोभा उसके क्षमाशीलता होने में है। -चाणक्य

जो अनंत को चुन लेता है वह अनंत द्वारा चुन लिया जाता है। -महर्षि अरविन्द

कोई भी कितना बड़ा क्यों न हो कभी अन्धो की तरह उसके पीछे न चलो। -चाणक्य

बृक्ष अपने काटने वाले को भी छाया देता है। –चैतन्य महाप्रभु

सबसे उत्तम बदल क्षमा कर देना है। –रविंद्र नाथ ठाकुर

जो महान उदेश्य के लिए मरते हैं उसकी हार कभी नहीं होती। –बायरन

हृदय कृपाण से अधिक शक्तिशाली होता है। -बैंडेल फिलिप

सच्चा सुख बाहर से नहीं मिलता अंदर से मिलता है। -महात्मा गाँधी

जीवन का सुख दूसरे को सुखी करने में है उसको लूटने में नहीं। –प्रेमचंद

प्रथम महान सम्पति है सूंदर स्वाथ्य। -इमर्शन

पैसे का बल ही बास्तविक सम्मान है। –यशपाल

मन का संतोष होना स्वर्ग प्राप्ति से बढ़कर है। -महाभारत

संगीत में क्रूर ह्रदय को भी शांत करने क जादू है। -जेम्स ब्रास्टन

लोगो में बल की नहीं सकल्प शक्ति की कमी होती है। -विक्टर ह्यगो

प्रायः सांकल का काल विजय के साथ ही आता है। –नेपोलियन

इस संसार में प्रत्येक बस्तु संकल्प शक्ति पे ही निर्भर करता है। -डिजरायलि

यदि सम्मान के साथ सन्ति नहीं रह सकती तो वह शांति नहीं कहलाती। –लार्ड रसेल

मानव जाती का अंत इस तरह होगा की सभ्यता अन्ततः उसका गला घोट देगी। –इमर्सन

तृष्णा की आग संतोष के रश को जला देती है। –योगवशित

मोटिवेशनल quotes for friends

अपने सुख के लिए दूसरे को कष्ट देना पाप है। -स्वामी दयानन्द

शरीर को दुर्बल और रोगी रखने के समान कोई पाप नहीं है। -लोकमान्य तिलक

ज्ञान राशि का बंचित कोश ही साहित्य है। -महावीर प्रसाद दिवेदी

सौंदर्य तो दर्शक के नेत्रों में वास करता है। -रोम्या रोला

जो दूसरे को जानता है वह शिक्षित है किन्तु जो स्वंम को पहचानता है वह बुद्धिमान है। -लाओत्से

Sandeep Maheshwari Quotes in hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published.