love poem in hindi | Best 51+ love poems

love poem in hindi | Best 51+ love poems | सच्चे प्यार पर कविता |

love poem in hindi -इस पोस्ट के अंदर विभिन्न युवा कवियों द्वारा लिखा हुआ कुछ बेहतरीन प्रेम कविता प्रस्तुत है -Hindi Poems on Love-love poem in hindi for girlfriend-love poetry in hindi- Sad Love Poem in Hindi-heart touching love poem in hindi for boyfriend-heart touching love poem in hindi for wife -heart touching love poem in hindi for her -love poem in hindi for husband -beautiful Love Poem in -Hindi-Valentine Day love poem in hindi-trending love poem in hindi -love poemin hindi for him-

love poem in hindi for girlfriend

तुम ही मेरे दुनिया हो……..
आजकल तुम्हारे बिना मुझे
कुछ भी अच्छा नहीं लगता है
जिधर भी देखु एकलौता मुझे
तुम्हारा ही चेहरा नजर आता है।
तू न दुनिया सी बन गयी हो मेरी ,
बस गुजारिस है तुमसे
की तुम दुनिया की तरह न हो जाना।
ठहरी हुयी सी मेरी
एक शाम हो गए हो तुम
बस गुजारिस है तुमसे
की तुम कहि ढल मत जाना
क्योकि तुमसे आगे मैंने
देखना अब छोड़ दिया है
तुम तक ही है मेरा अब जो भी है
बिन तुम्हारे भी चलना
मैंने अब छोड़ दिया है


तुम्हारे साथ ही ये सफर अब जिधर भी है
तुमसे प्यार किया नहीं है यार
तुम बने ही हो मोहब्बत के लिए
क्यों न हो जाय फिर इसक तुमसे
तुम हो ही इधर इसक के रिवायत के लिए
सच में तुम्हारे बिना आजकल मुझे
कुछ भी अच्छा नहीं लगता
जिधर भी देखु एकलौता मुझे
तुम्हारा ही चेहरा नजर आता है।

pyaar ki kavita हिंदी में

ओए सुन तू बहुत स्पेशल है मेरे लिए। ….
ओए सुन एक बात बताऊ तुझे
तू न बहुत स्पेशल है मेरे लिए
तेरे बिना मेरी ज़िंदगी पानी कम चाय है जैसे
मुझे पता है मैं तुझे बहुत इरिटेट करता हु
पर सच कहु तो हक़ समझ के करता हु
तुझे अपना मानता हु तुझ पर भरोषा करता हु

मैं चाहे जो भी करू जहां भी रहु
मेरे साथ कुछ भी अच्छा होता है या ख़राब होता है
मेरे दिमाग में सबसे पहले तेरा ही ख्याल आता है
और तुझे ही बताना अच्छा लगता है
मैं बस इतना जनता हु की कुछ रिश्ते बहुत गहरे होते हैं ,
और उसकी गहराई नाम से या टैग से नहीं नपी जाती
तेरा नहीं पता पर मेरे लिए तू सबसे ऊपर है
और हमेशा रहेगा …..

काफी दिन बीत चूका अब तो याद….
काफी दिन बीत चूका अब तो याद करलो मुझे
और कब बतक ऐसे ही नाराज़ रहोगे
मुझे मेरी गलती की सज़ा इतने बड़े
होगी कभी सोचा भी नहीं था मैं
तुमसे दूर रहके तुम्हारी कमी महसूस होने लगी
तुम्हे हार्ट करने का कोई इरादा नहीं रहता मेरा
बस तुम्हारे हरकतों के वजह से थोड़ा गुस्सा हो जाता हु
हु थोड़ा पोसेसिव मैं मानता हु
थोड़ा वक्त दो मुझे ठीक हो जाऊंगा मैं
बस एक बार मेरे गलतियों को माफ़ करदो
काफी दिन बीत चुके हैं अब तो अपनीं
प्यारी सी आवाज़ सुना दो मुझे
अब तो खुद से ही बाते करने लगा हु
ऐसे सोच के की तुम सामने ही हो
तुम्हे डांटता भी हु तुम्हारे हरकतों के लिए
खुद को कोषता भी हु खुद की गलतियों के लिए

20+ Hindi Kavita On Love | प्यार पर हिंदी कविता

बाते बेइंतिहा मोहब्बत की …
हम तो बेइंतिहा मोहब्बत करते थे न
एक दूसरे से ज़िंदगी भर का साथ निभाने का वादा किया था हमने
वो बेइंतिहा मोहब्बत आज नफरत में क्यों बदल गयी,
ज़िंदगी भर साथ निभाने का वादा आज आधी ज़िंदगी में कैसे छूट गयी ,
हम तो दो जिस्म एक जान थे तो ये जान आज अलग अलग कैसे हो गयी
हमने तो वादा किया था की हमारे बीच कोई नहीं आएगा
तो आज मेरे जगह में कोई और कैसे ….
जब हमारी मुलाकात होती थी तो हमारी चेहरे में वो रौनक
तुम्हारी होठो पे वो प्यारी सी मुस्कान
तुम्हारी चमकती आँखों में मेरे लिए प्यार
आज सबकुछ बदल सा गया है
न ही होठो पे वो प्यारी सी मुस्कान है
और न ही तुम्हारी आँखों में मेरे लिए प्यार है
हम तो बेइंतिहा मोहब्बत करते थे न एक दूसरे से
वो बेइंतिहा मोहब्बत आज नफरत में कैसे बदल गयी

love poem in hindi

जब सिर्फ मैं तुम्हारा बनके रहना चाहा …….
जब सिर्फ मैं तुम्हारा बनके रहना चाहा
वो हर कोशिस किया मैंने तुम्हे अपना बनाने का ,
जितना हो पाया मुझसे वो सबकुछ किया मैंने
मुझसे बात करना भी तुम्हे इरिटेटिंग लगता था
मेरा केयर करना भी तुम्हे अच्छा नहीं लगता था
तुम्हारा वक्त मांगते मांगते हार चूका था मैं
तुम्हारा इन्तजार करते करते थक चूका था मैं
पूरी तरह से अब टूट चूका था मैं
तुमसे दूर होने के वाद भी दूर नहीं हो पाया मैं
तुम्हे दिल से निकालना चाहा पर निकाल नहीं पाया मैं
गलतियां चाहे तुम्हारी हो या मेरी माफ़ी मैं ही मांगता था
क्योकि मैं तुमसे दूर नहीं होना चाहता था मैं

love poems hindi

वक़्त के साथ साथ हालत कितने बदल गये….
वक़्त के साथ साथ हालत कितने बदल गये
कल तक हम एक दूसरे के कितने करीब थे
और आज कितने दूर हो गए
कल तक एक दूसरे के बिना हम रह नहीं पाते थे
और आज रहना नहीं चाहते हैं।
वक्त के साथ साथ हालत कितने बदल गए हैं
कल तक बाते करने के बहाने ढूंढते थे
आज बाते न करने के बहाने ढूंढने पड़ते हैं
कल तक कॉल का इन्तजार किया जाता था
आज कॉल्स आने पर इग्नोर कर देते हैं
सच में वक्त के साथ साथ हालत कितने बदल गए
काश फिर से हम अपनी प्यार की शुरुआत कर पाते
काश फिर से हम अपनी पुरानी वक्त पे जा पाते
फिर से एक नई प्यार की शुरुआत कर पाते
काश एकबार जोर से गले लग के माफ़ी मांग पाते
अपनी गलतियों को भूलाके ज़िंदगी भर साथ निभानेका वाद कर पाते
काश फिर से हम अपनी प्यार की शुरुआत कर पाते

तेरे लिए एक अलग जगह है मेरे दिल में……
तू बहुत स्पेशल है मेरे भाई
तेरे जैसा दोस्त बहुत किस्मत वालो को मिलता है
तेरे लिए एक अलग जगह है मेरे दिल में
जहां मैंने नो इंट्री का बोर्ड लगा रखा है
किसी और को कभी आने भी नहीं दूंगा तेरे अलावा
हर एक बुरे वक्त में जिस तरह संभाला है मुझे
वो सायद कोई और कर पाता
जहाँ भी जाउ हर वक्त तुम मेरे साथ रहते हो
चाहे तुम्हे कितना भी जरुरी काम हो
मेरे बुलाने पे तुम सबकुछ छोड़के आता ज़रूर है
कोई बात किसी और को बताने के लिए हजार बार सोचता हु
पर तुम्हे बताने के लिए आज तक कभी हिचकिचाहट नहीं हुयी
हमारी दोस्ती हमेसा ऐसे ही बरकरार रहे।

heart touching love poem in hindi for boyfriend

मैं तुम्हारा रहूगी हमेशा …..
पहली नजर से तू इस दिल में बस गया है
न जाने इस दिल को तू क्या कर गया है
कुछ जादू सा है इन निगाहो में तेरी
जब से देखा है ये दिल तुझे ये दिल तेरा बन गया है
एक झलक से तेरी मेरा दिन बन जाता है
न देख सकू तुझे तो दिन अधूरा सा जाता है
बात जब होती है तुझसे मैं खुद को भूल जाती हु
बस एक धड़कन सी धरक्ति है
मैं इस दिल को भूल जाती हु
आज भी याद है मुझे बात जब हुयी थी तुझसे
वो लम्हा क्या कमाल था
जब किया इजहार तूने इसक का
वो तो दिन ही बेमिशाल था
तू इजहार करेगा ये मैंने सोचा नहीं था
दिल सोचने लगा ये हकीकत ही थी न
कोई सपना तो नहीं था
तेरी बाते मुझे अच्छी लगने लगी
तेरी साथ ज़िंदगी थोड़ी अच्छी कटने लगी
जो दर्द थे पुराने वो कहि खो सी गयी
तुम ज़िंदगी में क्या आयी मेरी जान
हम तो तुममे खो सी गए
तू रहेगा या नहीं मेरा ये तो मैं नहीं कह सकती
पर मैं रहूगी तेरी आखड़ी पल तक
अब मेरी जान मैं फैक्ट तो नहीं बदल सकता
तुझे बाते करते हुए मैं कहि खो से जाती हु
तेरे बारे में सोचते हुए मैं बिना बात ही मुस्कुराती हु
मैं तो अक्सर यही कहती हु मैं तुझसे प्यार करती हु
मगर तुम जब ये कहते हो न मैं दुनिया भूल जाती हु
तुझे खोने के ख्याल से ही मुझे दर लगने लगता है
दूर जितना होती हु तुझसे तू उतना पास से लगता है
अब कैसे बताऊं तुझे की कितना खास है तू
तू मेरा इसक नहीं मेरी जान है तू

रोमांटिक कविता इन हिंदी

तुम इतने स्पेशल हो …..
सुनो तुम इतने स्पेशल क्यों हो
क्यों मेरे कदम तुम्हारा रास्ता जानना चाहते हैं ,
क्यों चैन मेरे सपने मेरे वक़्त मेरा
तुम्हारे साथ रहना चाहते हैं।
क्या बात है तुममे जो तुम इतना मशहूर हो मुझमे
की मुझे फक्र नहीं किसी ज़न्नत का
जैसे ये साड़ी जन्नत खुद तुमसे मलकर आते हैं
तू कह दो जड़ा एकबार तो
की तुम हमेशा मेरे साथ रहोगे
जैसे रहा है ये अँधेरा यंहा
तुम उतना ही मेरे पास रहोगे ,


कहते हैं हजारो बाते होती है दिन की
लेकिन मुझे तुम्हारी बाते करना पसंद है
तुम कितने स्पेशल हो मेरे लिए मैं कितना बताऊं
बस यु समझ लो तुममे ही मेरी साडी दुनिया बंद है
कभी जानना मत मेरे दिल की हाल यु
बस पास रहना मेरे मेरे हाथ थामना तू
क्युकी यार तेरे बिन न कोई दिन सोचा है मैंने
बस तुम हमेशा साथ रहना मेरे होके तुम सुनो तुम इतने स्पेशल क्यों हो

Best Short Love poetry in Hindi

हम दूर हैं तो क्या हुआ…..
दूरी हमारे प्यार की काबिलियत थोड़ी बया करेगी
बयां करेगी हमारी तड़प एक दूसरे
से इतना दूर रहने के बाद भी
बहुत ही तकदीर से मिला है तू
इतनी आसानी से नहीं जाने दूंगी
भले ही मिलो दूर रहेंगे
लेकिन एक दूसरे से मिलकर रहेंगे
थोड़ा हँसेंगे थोड़ा रोयेंगे लड़ेंगे झगड़ेंगे
लेकिन एक दूसरे से दूर कभी नहीं होएंगे
दूरिया अक्सर गलत फेमिया बना देती ही दो दिलो में
वो गलत फेमिया अक्सर लड़ाई का रूप ले लेती है
पर लड़ाई कहाँ नहीं होती किस रिस्ते में नहीं होती
सब जगह होती है और उन लड़ाईयों को
सुलझाया जाता हैन उलझाया नहीं
ये सफर आसान नहीं लेकिन मंजिल खूबसूरत है।
और जो चल पड़े हैं संग हर मंजिल को पा लेना है
सुनो वादा करो की मंजिल आने से पहले रुख नहीं मोड़ोगे
इस चेहरे की मुस्कान की वजह तुम हो ,
जिंदगी को खुशहाल बनाने की वजह तुम हो
तुम्हे अंदाज़ा भी नहीं की तुम अगर पीछे हटे
तो क्या लेकर हटोगे अपने जिस्म के अलावा
जब दो दिल जुड़ते हैं तो बहुत कुछ जुड़ जाता है
सिर्फ दिल ही नहीं मैं यही हु और हमेशा रहूँगा
बस तुम साथ निभाना। ….

Best Hindi Love Poetry

एक लड़का है जो मुझे मुझसे ज्यादा जनता है….
जो बाते मैं खुद को समझा नहीं सकती
वो उन्हें भी समझ जाता है
एक लड़का है जो मुझे मुझसे ज्यादा जनता है
यु तो हर बात पे सवाल उठता है
पर मेरे हर सवाल का जबाब सा हो जाता है
डरता बहुत है न जाने वो किस बात से
भरा है जाने कितने ज़ज़्बात से
मेरे आँखों को देखने का नया नजरया देता है
मेरे मंजिल के लिए एक जरिया सा होता है
यु तो बे परवाह सी हु मैं
पर जाने क्यों दिल उसकी परवाह कर जाता है
एक लड़का है जो मुझे मुझसे ज्यादा जनता है
मैं बात न करू तो चिरचिराता है करू तो खिल सा जाता है
नाराज हु तो मनाता है कभी बेवजह इतराता है
कभी वेवजह मुझे सताता है
दीवानगी में अपनी रोज मेरा नाम लिख जाता है
जब सहर घूम के आता है
तो बारी बारी मुझे साडी कहानिया सुनाता है
जब हंसती हु मैं मुझपर दुनिया बार जाता है
एक लड़का है जो मुझे मुझसे ज्यादा जानता है
जब नहीं समझती उसे वो समझाता है
न मालुम हो कोई बात वो बतलाता है
जिस्मानी इसक की दुनिया में
वो कुछ रूहानी सा हो जाता है
मेरे हर सवाल का जबाब कभी बातो तो
कभी खामोशियो से मिल जाता है।
कुछ मेरे घर सा होकर कुछ मेरे रह जाता है
एक लड़का है जो मुझे मुझसे ज्यादा जानता है

love poem in hindi for husband

टेंसन मत लिया करो…..
सुनो इतना टेंसन मत लिया करो
जब देखो परेशान रहते हो किसी न
किसी चीज़ के बारे में ओवर थिंकिंग करते रहते हो
सच सच बताओ क्या हो जायेगा इससे कुछ होगा क्या
सलूशन मिल जायेगा चीज़े ठीक हो जाएगी
कुछ नहीं होगा उल्टा मेन्टल हेल्थ बिगड़ जाएगी
जो चीज़ तुम्हारे हाथ में है उसे ठीक करो
जो नहीं है उसके बारे में सोचने से कुछ नहीं होगा
उसे वक्त पर छोड़ दो रब पर छोड़ दो
वो सब ठीक कर देगा तुम वेवजह ओवर थिंकिंग
करके खुद को परेशान मत किया करो
यार हम कुछ ज्यादा ही वक्त ऐसे चीजों के बारे
में सोच सोच के करते हैं वो एक्सिस्ट नहीं करती
हम सिर्फ आने वाली चीजों के लिए खुद को
प्री पेयर कर सकते हैं और कुछ भी नहीं

love poem in hindi for wife

तुम पुरे बदल गए हो…..
उससे मिलकर न तुम पुरे बदल गए हो
सायद ये तुम्हे भी महसूस नहीं की ये क्या होगा
हर वक्त वही सकस रहता होगा ध्यान में तुम्हारे
सायद इस बात पे तुमने भी खुद ध्यान नहीं दिया होगा
अब तो बस उसी का लास्ट सीन देखते रहते हो
लगता है तुम्हे उसकी आदत हो गयी है
उसके अलावा ये दिल भी कहि नहीं लगता है तुम्हारा
सायद उससे तुम्हे मोहब्बत हो गयी है
जो हर वक्त उसी के इन्तजार में रहते हो
तुम्हे ऐसा बैचैन भी कभी देखा नहीं है
अब उसी की मैसेज से सुबह है तुम्हारी और रातें भी
तुम्हारे इस हालत का तुम्हे खुद भी पता नहीं है
उसी की खयालो में ये घडी आजकल
रुक सी जाती है तुम्हारी
वो बात नहीं करे तुमसे तो बातें
खुद से भी कहाँ हो पाती है तुम्हारी
उसके नाम से ही चेहरे पर तुम्हारे
ये चमक भी साफ़ नजर आती है
तुम आजकल खुद की समझ से बाहर रहते हो
पर उसकी बाते तुम्हे पूरी समझ आती है
यार तुम्हे इतना भी खुश कभी देखा नहीं
कोई तो वजह होगी क्योकि तुम ऐसे ख़ुश
बेकार में तो नहीं हो
रातो में भी आजकल नीड नहीं आती है तुम्हे
देखना कहि तुम प्यार में तो नहीं हो
तुम उसके प्यार में तो नहीं हो। …

trending love poems in hindi

आई लव यु का मतलब…
आखिर मतलब क्या होता है आई लव यु का ?
आई लव यु का मतलब सिर्फ इतना ही नहीं होता
हमे ऐसा लगा की सिद्दत वाला प्यार किसी से
होगया है तो बोल दिया आई लव यू
नहीं आई लव यु का मतलब होता है की
एक इंसान चाहने जैसा भी है अच्छा बुरा
चाहे कैसा भी रंग का हो
चाहे कैसे भी नेचर का हो
आप उसे वैसे ही एक्ससेप्ट करते हो
जैसा वो होता है
इसका मतलब यही है की आज हु साथ
कल भी रहूँगा बुरे से बुरे वक्त में भी
तुम्हारा हाथ नहीं छोडूंगा
तुम टूटोगे तो संभाल लूंगा
तबियत बिगड़ी तो हर पल
तुम्हारे इर्द गिर्द रहूंगा
तुम्हारी कमजोड़ि होने के बाबजूद भी
गलत फायदा नहीं उठाऊंगा तुम्हारा
लडूंगा भी तो एक दूसरे से नहीं
एक दूसरे के लिए लडूंगा
अगर कमिटमेंट दिया है तो सिर्फ तुम्हे
चाहना है साडी ज़िंदगी
इस सब का मतलव होता है आई लव यु

very hart touching love poem in hindi

बहुत ख़राब लगता है तब…..
पता है बहुत ख़राब लगता है तब
जब आप बहुत तकलीफो से गुजर रहे होते हो
वो इंसान जो आपके लिए सबसे ज़्यादा मेटर करता है
वो आपसे एकबार भी नहीं पूछता
की आप कैसे हो
क्या वजह है जो इतना तकलीफ हो रहा है
ज़रा सा भी इमोशनल सपोट नहीं करता वो शक्स
और कहने को प्यार करता है हमे
न जाने क्यों लोग फेल हो जाते हैं रिश्ते निभाने में
शुरुआत में कितनी बड़े बड़े बातें करते हैं की
हमेसा साथ निभाएंगे हमेसा समझेंगे हमे
जब वक्त आता है तो साथ तक नहीं खड़े होते
और चीज़ो के लिए हमे ब्लेम करने लगते हैं
जैसे हम ही सबसे बड़े कल्प्रीत हैं
बहुत बुरा लगता जब सौ प्रतिसत अफटस
देने के वाद भी कोई समझे नहीं तुम्हे तो बुरा लगता हैं

तुम हमेशा बस मुस्कुराते रहा करो……
सुनो न तुम हमेशा बस मुस्कुराते रहा करो
पता नहीं पर क्यों तुम्हे मुस्कुराते देखने में
एक सुकून है छाए दिन कैसा भी जा रहा हो
ऐसा लगता है की बस एक मुस्कराहट से
बस कुछ बहुत अच्छा लगने लगता है तुम्हे
मुस्कुराता देख मैं ये भी भूल जाता हु की
मैं परेशान किस बात से था टेंसन की
बात की थी और सच खु तो तुम मुस्कराते
हुए बहुत बहुत ही ज्यादा खूबसूरत लगते हो
मतलब दिन बन जाता है तुम्हे देख कर
तुम एक वो सक्स हो जो सिर्फ अपनी
मुस्कराहट से घायल कर सकता है लोगो को
जैसे मैं हु तुम्हारे लिए घायल
तुम्हारी दोस्ती में घायल तुमसे जुदा हर रिश्ते में
आई लव यु सो मच मेरी मेरी जान
तुम हमेसा मुस्कुराते रहो।

love poems in hindi by famous poets

ये कैसा रिस्ता है हमारा….
न हम साथ चल प् रहे हैं
न ही हम दूर हो प् रहे हैं
और न ही खवाबो को छोड़ प् रहे हैं
न ही हकीकत में बदल पा रहे है
सबकुछ होते हुए भी
हमारे बीच खाली सा लगता है
न जाने क्यों ये रिस्ता हमारा
बिखड़ा सा लगता है
दोनों एकदूसरे के एकदम अपोजिट हैं
कुछ भी सिमिलर नहीं है तुम्हारे बीच
हम चाहते कुछ और हैं होता कुछ र है
न जाने ये ज़िंदगी कहा ले जा रही है हमे
मैं तुमसे बहुत कुछ कहना चाहती हु
पर कह नहीं प् रही हु।

जो साथ छोड़ गयी हो। ….
जो कभी साथ छोड़ गयी हो बहाने बनाकर
वो कभी कहा मेरे पास था
वो गम था लोगो की भीड़ में
खान मेरे साथ था
मतलबी लोग अक्सर दिल से
रूह में उत्तर जाते हैं
और कहते हैं तुझसे मेरा इसक बहुत खास था
दगा देकर छोड़ जाते हैं ये लोग अक्सर
कहते हैं तू ही मेरा सच्चा प्यार था
सिख लिया है भरोसा नहीं करना अब
ये जो भी था बस उसके दिखावे का हसास था

best hindi love poetry lines

मोहब्बत की सज़ा पा रहा हु…..
अब कोई सौक बांकी नहीं है
मोहब्बत की सज़ा पा रहा हु मैं
मेरी चाहत के ये किस्से सबको
सुना रहा हु मैं
कहता हु नहीं जाना कभी इसक के राहो में
इन अँधेरे रास्तो से तुमको बचा रहा हु मैं
वो समा है परवानो की परवाह नहीं उसको
राख बना हु ये तुम्हे समझा रहा हु मैं
और कुछ पलों का मजाक है कुछ नहीं है ये
अपनी मौत का मंजर भी तुमको दिखा रहा हु मैं

मेरी जान…..
क्या तारीफ करू उसकी
वो तो आसमा का चाँद है
मैं जिसके लिए लिखता हु
वो कोई और नहीं मेरी जान है
मेरे हर किस्से में है वो
मेरे ज़ुबान पे हर वक्तउसी का नाम है
ये दिल उसी के लिए धरकता है
बस उसे चाहना मेरा काम है
थोड़ी जाली है वो थोड़ी नादान है
बस एक लड़की नहीं है वो पूरा जहान है
उसे खुश देखकर मेरा पूरा दिन बनता है
बहुत प्यारी उसकी मुस्कान है
उसके गालो के वे डिम्पल
उनमे ही तो बस्ती मेरी जान है
उसकी वो प्यारी आवाज़
जिसे सुनकर लगता है सुनता ही रहु
कितनी मिठास है उसकी बोली में
बस वो बोलती रही और मैं कुछ न कहु
उसकी वो नशीली आँखे
जिनमे खोने का दिल करता है
और उसकी सबसे खूबसूरत
उसके थोड़ी का वो तिल लगता है
वो तो बस एक तिल नहीं
वो तो बस एक नजर का टिका है
जो रब ने खुद लगाया है उसे
उसने भी सोचा होगा कितने खूबसूरत है
कहि नजर न लग जाय इसलिए
पर अपनी खूबसूरती पर
वो कभी गुमान नहीं करती
बहुत साफ़ दिल है उसका
मुझे पूछे बिना कुछ काम नहीं करती
इतनी खास होकर भी
वो एक आम लड़के पर मरती है
मैं बहुत खुस किस्मत हु जो
वो मुझसे प्यार करती है

प्रेम कविता शायरी हिंदी में

हमे तो उस रब ने मिलाया…….
तमन्ना थी तुम्हे पाने की
और तुम ही मिल गए
क्या खूब करवट ली मेरी किस्मत ने
मेरे उदासी के दिन खुशियों में बदल गए
एक हम सफर मिल गया मुझे
जो मुझे बेहद प्यार करता है
जो जान वार्ता है मुझपे
मुझे अपनी खुसियो से भी पहले रखता है
यकीं नहीं होता मैं तुम्हारा और तुम मेरे हो गए
इस दुनिया की खबर नहीं
तुम्हारे प्यार में हम इतने खो गए
तुम मिल गए मुझे मेरे
सब खुवाब पुरे हो गए
बस अब एक ही खुवाईश बांकी है
उम्र भर तुम्हारे साथ राहु
जब भी तुम उदाश हो जाओ
तुम्हे हसाता राहु
इतनी खुसिया भर दू तुम्हारी ज़िंदगी में
गमो के लिए जगह बांकी न रहे
इतने खुश हो हम एक दूसरे के साथ
देखो कितना प्यारा कपल है हर कोई कहे
और कहे भी क्यों न
हमे रब ने एक दूसरे के लिए ही बनाया है
लाख कोशिसो के बाद भी हम सायद मिल न पाते
हमे तो उस रब ने मिलाया है

love poems by famous indian poets

मैं तुम्हारा ……
अगर ये कह दो बगैर मेरे
नहीं गुजारा तो मैं तुम्हारा
ये इस पे मबनी कोई तासुर
कोई इसारा तो मैं तुम्हारा
गरूर परवर आना के मालिक
वो जिस तरह के नाम है मेरे
मगर कसम से जो तुम्हे एक
नाम भी पुकारा तो मैं तुम्हारा
तुम अपनी सरतो पे खेल खेलो
मैं जैसे चाहु लगाओ बाजी
अगर मैं जीता तो तुम हो मेरे
अगर मैं हारा तो मैं तुम्हारा
तुम्हारा मुख्लिस तुम्हारा
आसिक तुम्हारा अपना
तुम्हारा साथ रहा न एक
मैं से कोई दुनिया में
जब तुम्हारा तो मैं तुम्हारा
तुम्हारा होने के फैसले को
मैं अपनी किस्मत पे छोड़ता हु
मगर मुक़दर का टूटा
कोई सितारा तो मैं तुम्हारा
ये किसको ताबीज़ कर रहे हो
ये किसको पाने को
है वाजीखे सभी को छोड़ा
बस एक करलो जो
इस्तीखरा तो मैं तुम्हारा

poetry इन हिंदी on love

मैं कैसे भूल जाऊ तुम्हे ……
मैं कैसे भूल जाऊ तुम्हे अलग होने से
सिर्फ रिस्ता ख़त्म होता है
प्यार ख़त्म नहीं होता वो हमेसा ही रहता है यादो में
सिर्फ यादे ही तो बची है तुम्हारे मेरे पास
इन्ही के सहारे मैं अब सारा वक्त बिता लेती हु
कभी कभी सोचती हु उन पलो को
उस वक्त को जो हमने साथ बिताया है
दुनिया भुला के चाहा था तुम्हे
आई लव यू बोला पर उसे कभी निभाया ही नहीं
मैं ही पागल थी जो तुम्हारे उस बात पे यकीं कर ली
तुम तो प्यार के नाम पर बस टाइम पास कर रहे थे
मैंने हर कोशिस की इस रिश्ते हो बचाने के लिए
कितना आसान था न तुम्हारे मेरे फीलिंग्स के साथ खेलना
पर मुझे तुमसे कोई शिकायत नहीं
गलती तो मेरे ही थी न मैं तुम्हारे
इरादे कभी जान ही न पायी
कभी कभी मुझे ये सब अहसास होता था की
ये सब बस टाइम पास है तुम्हारे लिए
पर मैं क्या करती मेरा दिल इस बात को
कभी मान ही न पाय

Poetry in Hindi on लव Life

हाँ वो तुम हो….
हाँ वो तुम हो जिसके मैसेज सुबह उठते ही
यह सुबह मेरी शुरू हो जाती है
हां तुम हो जो इस मायूस चेहरे पर भी
पल में मुस्कराहट ले आती है
हाँ वो तुम हो जो हंसी रात का पता मुझे चलता है
हाँ वो तुम हो जिसका न होना यंहा
बड़ा जयादा खलता है
हाँ वो तुम हो जो आज लखने की एक वजह हो
जो आदत मेरी एक वेवजह हो
हाँ वो तुम हो जिसका हर पल जिक्र में
अपने दोस्तों से कहता हु
हाँ वो तुम हो जिसकी फिक्र मैं
खुद से भी ज्यादा करता हु
हां वो तुम हो जो दर्द में भी एक सुकून देता है
हां वो तुम हो जिसे ज़माना या इसक कहता है

love poems in hindi for her

कोई इतना अच्छा हो सकता है…
मैंने ऐसा किया किया जो मुझे तुम मिल गए
ऐसा क्या देखा तुमने मुझमे जो मुझे चुन लिया
मुझे पता ही नहीं था की सुकून किसे कहते हैं
फिर मैंने तुम्हारी आवाज़ सुनी तो दिल
में एक अलग अहसास हुआ
कोई इतना अच्छा कैसे हो सकता है
सब को छोडो पर मुझे कोई इतना अच्छा
कैसे मिल सकता है
मैंने तो तुम्हारे टाइप की भी नहीं हूँ
तुम्हारे जितना इंट्रेस्टिंग भी नहीं हु
फिर भी इतना लोगो में से मैं तुम्हे चुना
किस्मत पे यकीं ही नहीं हो रहा है
कैसे मुझे तुम मिल गए
मन तो कर रहा है खू नाचू गाउन
पूरी दुनिया को चिल्ला चिल्ला क बता दू
पर सायद इतना कुछ डिजर्व ही नहीं करती
पर तुम्हे पाकर ऐसा लगता है
हां सायद तुम्हे मिलना था इसलिए
किस्मत ने किसी और पे रुकने नहीं दिया
मेरे खुश होने के पहली वजह बन गए हो तुम
मेरी ज़िंदगी आने के लिए सुक्रिया
तुम्हे बात करके लगता है की सपनो में हूँ मैं
कोई है जो मेरा इन्तजार करता है
मैं सोची भी नहीं थी की तुम्हारे जैसा कोई मिलेगा
मेरे साथ उतना अच्छा भी कुछ हो सकता है

beautiful love poem in hindi प्यार पर सुन्दर कवितायें

जब तुमसे बात नहीं होती ……..
आजकल जो तुमसे बात नहीं होती है
मतलब ये थोड़ी की तुम्हारी बात नहीं होती है
हाँ हम दोनों पास नहीं हैं
पर खयालो में तो मैं हमेसा तुम्हारे पास होता हु
मैसेज पढ़ पढ़ कर थक जाऊ अगर
तो वो कॉल रिकॉर्डिंग सुन लेता हु
अभी कुछ दिन पहले तुमसे बात हुयी थी मेरी
तो तुमसे बात करके मैं बता भी नहीं सकता
की मुझे कैसा लगा था
भले ये बात 5 मिनट 36 सेकंड की थी
पर तुम्हारा कसम यार मुझे
बहुत ज्यादा अच्छा लगा था
तुम्हारे गलियों से आया उसके बाद में
सिर्फ तुम्हे देखने के लिए
इन आँखों में एक बार फिर से
सिर्फ तुम्हे कैद करने के लिए
अब क्या ये आँखे तुम्हे देखे बिना
एक पल भी रहती नहीं है
ये लड़का पागल हुआ पड़ा है तुम्हारे लिए
और तुम्हे इतनी सी बात समझ आती ही नहीं है

Valentine Day Poetry इन हिंदी

ज़िंदगी बहुत सिंपल है …..
आखिर क्यों ज़िंदगी को
इतना कॉम्प्लिकेटेड बना रखा है
थोड़ा तो इसे सिंपल करो
किसी की याद आ रही ह
तो क्यों उसे खुद से इतना दूर कर रखा है
फ़ोन उठाओ और उसे अभी कॉल करो
कोई बात पसंद आती है तो कह दो न
अगर नहीं तो भी कह दो
क्यों नफरत को अंदर दबा रखा है
किसी का साथ अच्छा लगता है तो कह दो न
अगर नहीं तो भी कह दो
क्यों किसी को ऐसे धोखे में रखा है
तुम्हारे पास वक्त है तो है
अगर नहीं है तो नहीं है
क्यों किसी को बातो में उलझाए रखा है
ये ज़िंदगी बहुत सिंपल है यार
पता नहीं क्यों इसे इतना कॉम्प्लिकेटेड बना रखा है

जब तुमसे बात नहीं होती….. जब तुमसे बात नहीं होती
कुछ भी अच्छा नहीं लगता मुझे
दिन अधूरा सा लगता है मुझे
मेरा फिर किसी और से बात
करने को मन नहीं करता
बस तुम्हारा इन्तजार रहता है
कब तुम्हारा मैसेज आये
कब तुम्हे दिल की साडी बाते कह सकू
एक बेचैनी सी रहती है तुम्हारे आने की
और एक डर भी रहता है
कहि तुम मुझसे नाराज तो नहीं हो
जब तक तुमसे मेरी बात न हो
मैं अकेला पढ़ जाता हु
न जाने कितनी दफा मैं अपने
दोस्तों से लड़ जाता हु
तुम्हारे कहि जाने पर मैं कितना
इन्सेक्युरे फिल करता हु
तुम्हारे मना करने पर मैं तुम्हे
कॉल करू या न करू
ये खुद से कितनी मुश्किल से
डील करता हु
तुम कैसे मैनेज कर लेती हो यार
मुझे तो ये मुश्किल लगता है
ये लॉन्ग डिस्टेंस वाला प्यार

Sad Love Poem in Hindi

बस यही कहना था तुमसे………
देखो ज़्यादा घुमा फिरा के नहीं कहूंगा
क्योकि इसारे वैसे भी तुम्हे समझ नहीं आते
तुम अच्छी लगती हो क्योकि तुम अच्छी हो
बहुत से कारण है जो तुम्हे इतना खास बनते है
तुम्हरी बाते जिन्हे सुनकर मैं दिन रात गुजर सकता हु
तुम्हारी हंसी जिसे देखकर मैं अपनी तकलीफ मिटा सकती हु
तुम्हारा गुस्सा वो भी तुम्हारा है तो वो भी प्यारा ही लगता है
तुम्हारी आँखे उन्हें देखकर बस उनमे
डूबने का मन करता है
तुम्हे पता हो न पता हो पर पता होना चाहिए
कोई है जो तुम्हारे खुश होने पे ज़्यादा खुश होता है
इसी लिए उदाश मत हुआ करो
तुम्हे हँसते रहना चाहिए
मैं वो गाना बनना चाहता हु जिसे सुनकर
तुम किसी अलग दुनिया में ही खो जाना चाहती हो
मैं वो दोस बनना चाहता हु
जिसे अपनी ज़िंदगी की तुम साड़ी कहानिया बताती हो
मैंने कभी ऐसे बताया नहीं तुम्हे
सायद तुम्हे खोने की डर के वजह से
तुम अच्छी लगती हो क्योकि तुम अच्छी हो
बस यही कहना था तुमसे

Hindi Love Story Poetry | Love Story Poem

dear love…..
dear loveतुम्हे जब भी देखता हु न
तब पता चलता है की तुम कितना परफेक्ट हो
तुम्हारी आँखे इतनी प्यारी है
की देख के यंहा कोई भी अट्रैक्ट हो
तुम्हारे खुले बालो के सामने
मुझे न आजकल कुछ भी पसंद नहीं आता है
अच्छे लगते हैं जब हवाओ से ऐसे बाते करते हैं
तो इन्हे ऐसे बंधा नहीं जाता है
समझ रहे हो न तुम
की मैं तुम्हे क्या कहना चाह रहा हु
पता है आजकल मैं बड़ा अलग सा हो गया हु
तुम्हे देखु तो मन करता है बस देखता रहु
तुम्हारे बातो को सुनु तो मन करता है सुनता ही रहु
तुम बहुत ज्यादा बोलती हो ऐसे
पर बहुत अच्छी लगती हो
तो सुनता रहता हु ऐसे
दोस्त भी कहते रहते हैं आजकल
की भला तुझे हो क्या गया है
जो लड़का कभी बोले नहीं थकता था
आजकल इतना खामोश सा हो गया है
क्या करू यार ये दिल तो मेरे पास है
मगर तुम्हारा हो गया है

Love Poetry for special one’s Hindi Poetry For Him

भला तुमने कभी सोचा की……..
भला तुमने कभी सोचा की मोहब्बत की अदा क्या है
अगर वो न मिला हमको तो फिर जीना भला क्या है
किसी को देखना और सोचना और मुस्कुरा देना
किसी जुमले को उसके दिल ही दिल में गुन गुना देना
आदाओ पर कभी गरफ्तगी से थामना दिल को
कभी एक मुस्कराहट पे निसार दिल किया करना
हुजू में दोस्ता में भी कभी खोये हुए रहना
कभी तन्हाई में खुद को सरे महफ़िल समझ लेना
मोबाईल पे उसी के नाम को बस घूरते रहना
मिलाना कोई भी नंबर तो कॉल उसको मिल जाना
कभी जो टोन मैसेज की बजे चुप चाप लम्हो में
तो एकदम से ख्याल उसका दबे पाँव चले आना
सोचा कभी तुमने मोहब्बत की अदा क्या है
कभी पुछु दिले नादाँ मोहब्बत की अदा क्या है
फ़क़त लम्हो की किस्सों में डुबोना अपनी हस्ती को
ज़माने ये बता जुर्म मोहब्बत की सज़ा क्या है

सुनो मुझे प्यार जाताना नहीं आता……
सुनो मुझे प्यार जाताना नहीं आता
मैं तुम्हे बहुत पसंद करता हु
लेकिन तुम्हे कैसे बताउ ये नहीं पता
मैं तुम्हे गाने वीडियोस भेजूगा
की उससे देखकर तुम मेरे फीलिंग्स समझ सको
और मैं जान बुझ के अटपटी स्टोरीज डालूंगा
की तुम उससे देखकर कुछ तो रिप्लाई करो
मैंने अगर मैसेज भेजा है तुम्हे
तो समझ जाना बहुत टाइप करने के बाद भेजा होगा
मैं इतना किसी को याद नहीं करता
जितना अबतक मैंने तुम्हे याद किया होगा
हो सकता है मैं तुम्हारा साडी फोटो को
लाइक करना भूल जाऊ
लेकिन दिल में कैद करना नहीं भूलूंगा
मेरी हरकतों से समझ जाना मुझे पसंद हो तुम
क्योकि सब्दो में ये प्यार वाली बात
मैं तुम्हे कह भी नहीं सकूंगा

पहला प्यार कविता love poem in hindi

( love poem in hindi) तुझसे भी अच्छा ढूंढ लाएंगे हम…..

इसक के बगैर कैसे जी पाएंगे हम
और तुझसे बिछड़कर मर जायेंगे हम
तुझे ऐसा लगता है तो ये तेरी गलत फेमि है
क्योकि तेरे जाने के बाद तुझसे भी अच्छा ढूंढ लाएंगे हम।
कोई ऐसा जो मेरे रूठने पर मुझे मनाना जनता हो
और बिलकुल मेरी तरह प्यार जाताना जानता हो
इस बार किसी ऐसे से दिल लगाएंगे हम

कोई ऐसा जो हर मोर पे मेरा साथ दे ,
लड़खड़ाउंगी कभी तो मेरे गिरने से पहले हाथ देगा ,
उसके प्यार के आगे तेरे धोखे को भूल जायेंगे ,
तेरे जाने के बाद तुझसे भी अच्छा ढूंढ लाएंगे हम।
कोई ऐसा जिसे घर आते ही मेरा चेहरा चाहिए ,
अपनी चेहरे पर मेरे जुल्फों का पहरा चाहिए हो ,
ऐसे किसी सकस के खातिर सबसे लड़ जायेंगे हम।
तेरे जाने के बाद तुझसे भी अच्छा ढूंढ लाएंगे हम।

जो रास्ते की परवाह किये बिना मंजिल तक मेरे साथ जायेगा ,
इस बार किसी ऐसे लड़के के हाथो में मेरा हाथ जायेगा ,
इस बार उसकी मोहब्बत में हद से गुजर जाएंगे हम ,
तेरे जाने के बाद तुझसे भी अच्छा ढूंढ लाएंगे हम।
इसक के बगैर कैसे जी पाएंगे हम
और तुझसे बिछड़कर मर जायेंगे हम
तुझे ऐसा लगता है तो ये तेरी गलत फेमि है
क्योकि तेरे जाने के बाद तुझसे भी अच्छा ढूंढ लाएंगे हम।

शायरी लव रोमांटिक poetry

किसे दिखाऊं जख्म अपने
किसे दिखाऊं जख्म अपने
kise गले लगाऊं अब
कोई नहीं है सुनने वाला
अपने दर्द किसे दिखाऊं अब
पहले तो समझते थे मुझको
पर अब तो कुछ सुन्ना ही नहीं चाहते
न जाने क्यों मुझे आज कल
मेरे अपने ही समझ नहीं पाते

तू किस सख्स से उलझा था याद कर
मोहब्बत किस्से कर बैठा था याद कर
ज़िंदगी में आगे बढ़ तो गया है तू दुसरो के साथ
अपने छोड़ आया पीछे याद कर

खुदा करे खुश रहे मगर खुश दीखते नहीं आजकल
ये नए नए रिश्ते अब टिकते नहीं आजकल
और बहुत गम बेचे हैं इस महफ़िल में
ये दर्द समेटना बांकी है बहुत दुखः
देखनी है क्या ज़िंदगी में अभी तो
उसका निकाह देखना बांकी है।

झूठ तैरे थे जो मेरे सच्चाई पे भारी पर गए
मुझे ऐसा लगा तू मेरे गालो पे
जोड़ से थप्पड़ जड़ गए
न जाने फिर करली कैसे मोहब्बत मुर्सद
लगता है फिर से मेरी अक्ल पे पत्थर पर गए

romantic poetry in hindi

ये तो अक्सर होता आया है
सबको देने वाले खोता आया है
बड़ी सिद्दत से हंस लेते हैं
जो प्यार को मजाक समझकर
सच्ची मोहब्बत करने वाला अक्सर रोता है

वे नाजुक से रिश्ते थे जो हमसे संभाले नहीं गए
इसक से जले थे हम जो अब तक छाले नहीं गए
एक हम हैं जिसे जहां तक से निकाल फेका हमने
एक गुलाब उनके किताब से कभी निकाले तक नहीं गए।

जो कभी देखकर मुझको खिल जाता था
अब मुझे देख कर मुर जाता है
मेरे बजूद को अपने अंदर खुद देखता ठुकराता
कैसे बताऊ उसे बेवफ़ा मैंने सोची न थी
ये चीज हुई कोई साजिस न थी
तुम्हे रुके में रखना साहा नहीं था मैंने
तुमसे मोहब्बत नहीं हुयी है ऐसे कहा नहीं था मैंने

अब मुझे फर्क नहीं पड़ता
कोई मेरे साथ रहे न रहे koi साथ दे न दे
कोई मुझे अपने कहे न कहे
अब सच में मुझे फर्क नहीं पड़ता।
ab नहीं भागती फ़ोन पे नंगे पाँव
अब नहीं देती लाइफ में इम्पोटैंस किसी को
की कोई मेरा दिल तोड़ सके
अब मैं नहीं लगती लोगो से एक्सपेटेशंस
की जिसके टूटने पर मुझे दुःख हो
अब मैं नहीं लाती किसी को इतना करीब
की उसके दूर जाने पर मुझसे रहा न जा के
सच में अब मुझे फर्क नहीं पड़ता।

love poem in hindi for girlfriend boyfriend

मैं बेबाक हु मेरे बातो में तपन रहता है
जानी क्यों मेरे आँखों ,में सावन रहता है
मेरे हक में फैसला करने से रोकता है मुझको
मेरे अंदर मेरा कोई दुश्मन रहता है

एक कस्ती को दरिया का किनारा चाहिए था
इस दिल को तेरे प्यार का सहारा चाहिए था
जिस इंसान ने गिराया मुझे मेरे ही नजरो में
मुझे वही इंसान दुबारा चाहिए था
इतनी नवजीसे गैरो पर
यंहा तड़पता आशिक़ तम्हे बेचारा नहीं लगता
एक बार बर्वाद होकर मोहब्बत ने
करने लग जाए इसक ऐसा दोबारा नहीं लगता।
बात नहीं करनी है तो कुछ ऐसी बहाना बहाना

मैं कायनात हथेली पे लाकर रख देता
तू एकबार बोलती तो सही जरुरत है
ये मुझ पर छोड़ देना मैं जिस तरह भी चाँद ले आऊं
उदास लड़की फकत इतना बता तुझे जरुरत है
सुना है वक्त मरहम है जो भर देता है जख्मो को
फिर क्या होगा हमारा जो हमे जख्मो की आदत है
सुनो ये मंजिल है मुबारक हो तुम्हे मंजिल
हमे जाना है वापस फिर हमे रास्तो की आदत है।
सुनो ए जागने वालो जड़ा कम सोर सोना है
तुम्हे होगी हक़ीक़त की हमे खाबो की आदत है
हमारे दोस्त दुश्मन सबसे महफ़िल की गुट जमती है
हमे अच्छे बुरे जैसे भी है हमे लोगो की आदत है
दुआ हो या गाली हो बराबर लुफ्त मिलता है
वो मीठे हो या कर्वे हो हमे लफ्जो की आदत है
तुम्हे होगी गिरेबादर होक ख़ाक उड़ाने की
हमे सहरा बसाने हैं हमे चस्मो की आदत है
ये देखो निल चेहरों पर ये देखो सुर्खी आँखों में
बस यही है ठीक बस रंगो की आदत है
सुना है वक्त मरहम है जो भर देता है जख्मो को
फिर क्या होगा हमारा जो हमे जख्मो की आदत है

love poetry in hindi on husband

जब कोई प्यार में हारा होता है
टूटा एक सितारा होता है
सिर्क में माफ़ी मिलने लगी तो
तुमसे इसक दुबारा होगा
उसने मुरकर देखा है तो
पिछले कर्ज उतारा होगा
ये तो घर की बात है इसमें
दिल को जान से मारा होगा
तेरा आँख समंदर होगी
तो मेरा जख्म किनारा होगा
मैंने पियर किया था तुम्हे
तुमने वक़्त गुजारा होगा।

उसकी आँखों में मोहब्बत का सितारा होगा
एक दिन आएगा वो शख्स हमारा होगा
ए ज़िंदगी अबकी मेरा नाम न शामिल करना
गर ये तय है की यही खेल दुबारा होगा
जिसके होने से मेरा साँस चला करती थी
किस तरह उसके बगैर अपना गुजारा होगा
ये जो पानी में चला आया सुनहरी सा गुरुर
उसने दरिया में कहि पाँव उतारा होगा।

जब से इसक ने खींचा है खिड़की का पर्दा एक तरफ
उसका कमरा एक तरफ है बांकी दुनिया एक तरफ
मैंने अब तक जितने भी लोगो में खुद को बांटा है
बचपन से रखता आया हु तेरा हिस्सा एक तरफ
एक तरफ जलती है उसके दिल में खल कलने की
एक तरफ कर देता है रफ्ता रफ्ता एक तरफ
यु तो आज भी तेरा दुःख दिल दहला देता है
लेकिन तुझसे जुदा होने का पहला हफ्ता एक तरफ
इसकी आँखों ने मुझसे मेरी खुद्दारी छीन ली बरना
पावो की ठोकर से कर देता था मैं दुनिया एक तरफ।

प्यार का इजहार कविता

तुम अगर सीखना चाहो तो मुझे बतला देना
आम सा तो कोई है नहीं तोफा देना
एक ही शख्स है जिसको ये हुन्नर आता है
रूठ जाने पर फ़ज़ा और भी बहका देना।
इसक दुनिया में इस काम भेजा गया है
की जहां आग लगी है उसे भरका देना
दिल बताता है मुझे अकल की बातें क्या क्या
बंदा पूछता है तेरा कोई लेना देना।

अब बस उसके दिल के अंदर दाखिल होना बांकी है,
छह दरवाजे तोड़ चुका हु एक दरवाज़ा बांकी है
दौलत सोहरत बीवी बच्चे अच्छे घर और अच्छा दोस्त
कुछ तो है जो इनके बाद भी हांसिल करना बांकी है
कभी कभी तो दिल करता है चलती रेल से कूद परु
फिर कहता हु पागल अब तो थोड़ा रास्ता बांकी है।

इसे भी पढ़े –

Quotes in hindi

150+ Best Hindi Kavita

Leave a Comment

Your email address will not be published.