Home » Top 50+ Desh bhakti shayari for anchoring मंच संचालन के लिए देशभक्ति शायरी।
Desh bhakti shayari for anchoring

Top 50+ Desh bhakti shayari for anchoring मंच संचालन के लिए देशभक्ति शायरी।

Desh bhakti shayari for anchoring-इस पोस्ट में देशभक्ति पर बेहतरीन मंचसंचालन सायरी शेयर किये हैं -स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त की शायरी-Republic Day Shayari in Hindi-Republic Day Status in Hindi-Republic Day Special Shayari in Hindi with Image-26 जनवरी पर शायरी -तिरंगा शायरी स्टेटस -desh bhakti shayari status -26 january shayari for anchoring-top deshbhakti shayari on 15 august -Deshbhakti Patriotic Shayari for Independence Day, Republic day-शहीद देश भक्ति शायरी.

Desh bhakti shayari on republic day

बंदे मातरम् कहके हम आगाज़ करते हैं
आसमान छूने है हौशला हो तो वाज़ कहते हैं।
नमन तिरंगे को करके माँ भारती को प्रणाम करते हैं ,
आज का दिन चलो हम देश के नाम करते हैं।

Bande matram kahke hm aagaj karte hain
aasmaan chhune ki hausla ho tou taaz kahte hain
naman tirange ko karke maa bhaarti ko pranaam karte hain
aaj ka din chalo hm desh ke naam karte hain .

लिख रहा हु मैं अंजाम जिसका कल आगाज़ होगा
मेरे लहू के हर कतरा इन्कलाब होगा

likh rha hu main anjaam jiska kl aagaj hoha
mere lahu ke har inkalaab hoga .

मंच संचालन शायरी इन हिंदी।

मंच संचालन के लिए चुटकुले।

हम फौलादी सिने वाले
हम अंगारें पिने वाले
साहस से दिशा मोड़ देते
आने वालों तुफानो की।

hm faulaadi cine waale
hm angaaren pine waale
saahas se disha mod dete hain
aane waale tufaano ko

 मंच संचालन स्वागत शायरी।

मंच संचालन मोटिवेशनल शायरी।

पूरा जग जानता है की हमारी क्या कहानी है
हमारी इतनी ही पहचान काफी है की हम हिन्दुस्तानी है।

pura jag jaanta hai ki hmaari kya kahani hai
hmaari itni hi pahchaan kaafi hai ki hm hindustaani hai

Republic Day Shayari in Hindi for anchoring

शहीदों की ताबूत से लिपटकर
वतन फ़रस्ती का फ़र्ज़ निभाता है
लहराता है जब हिमालय की चोटी पर
किसी की शहादत का कर्ज चुकाता है।

shahido ki taabut me lipatkar
vatan farsti ka farj nibhata hai
lahrata hai jab himaalay ki chooti
kisi ki sahadat ka karj chukaata hai .

ये आज़ादी गहना हमारा ,हमे इस्पे नाज़ है।
वीरो के बलिदान से मिला ये दिन हमको आज है।
यंहा बहती गंगा यमुना और सर हिमालय का ताज है।
हसींन होगा और सफर ये तो बस आगाज़ है।

ye aazadi gahna hmaara hme ispe naaz hai
veero ke blidaan se mila yed in hmko aaz hai
yanha bahti ganga yamuna aur sar himaaly ka taaz hai
hasin hoga aur safar ye tou bs aagaz hai

खिले हुए गुलसन की महकती वादियों का साया हु
और देश भक्ति का ज़ज़्वा अपने दिल में लेकर आया हु।
है रगो में खून राणा सिवा से वीरो का तो दिखलाओ
मैं अपने दिल में सजाकर भारत का तस्वीर लाया हु।

khile huye gulasan mhakti waadiyo ka saaya hu
aur desh bhakti ka zazwa apne dil me lekar aaya hu
hai rgo me raana siva se vero ka tou dikhlaao
main apne dil me sazakar bharat ka tasweer laya hu

देश भक्ति शायरी मंच संचालन के लिए

खुशनसीबी है ये हमारी की तिरंगे के साये में पलते हैं।
हर मजहब हर रंग के फूल इस धरती पे मिलते हैं।
थकन से बदन चूर हो हौशला ने भी जब दम तोड़े
अँधेरी रात से होकर भी फिर हिम्मत के दीप जलते हैं।

khushnasibi hai ye hmaari ki tirange ke saaye me palte hain
har majhab har rang ke fool is dharti pe milte hain
thakan se wadan choor ho haushla ne bhi jb dam tose
andheri raat se hokar bhi fir himmat ke deep zalte hain

Desh bhakti shayari for anchoring

ज़माने भर में मिलते है आशिक़ कई
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,
नोटों में भी लिपटकर सोने में सिमटकर मरे हैं कई
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता।

zamaane bhar me milte hain aasiq kyi
magr watan se khubsurat koi sanam nhi hota
noto me bhi lipat kar sono me bhi simat kar mre hain kyi
magar tirange se khubsurat koi kafan nhi hota

desh bhakti status shayari 2023

गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगारा
चमक रहा आसमान में देश का सितारा
आज़ादी के दिन आओ मिलकर करें दुआ
की बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा।

gunj rha hai duniya me bhaarat ka ngaara
chamak rha hai aasmaan me desh ka sitaara
aazdi ke din aao milakr kren dua
ki bulandi par lahraat rhe tiranga hmara

मैं अपने भारत देश का हरदम सम्मान करता हु
यंहा की चाँदनी मीट्टी का ही गुणगान करता हु
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की
तिरंगा हो कफ़न मेरा बस यही अरमान रखता हु।

main apne bharat desh ka hardam samaan karta hu
yanha ki chandni mitti ka hi gungaan karta hu
mujhe chinta bhi swarg jaakar moksh paane ki
tiranga ho kafan mera bas yahi armaan rakhta hu

तिरंगा हमारी आन है
तिरंगा हमारी शान है
दुनिया का सबसे प्यारा
हमारा हिन्दुस्तान है।

tiranga hmaari aan hai
tiranga hmaari shaan hai
duniya ka sabse pyar
hmaar hindustaan hai

26 january shayari for anchoring

वो सोना था न चाँदी था ,
वो न तूफ़ान था न आँधी था
बिना एक चाटा मारे पूरा देश वापस लाया था
भारत के उस सूरज का नाम महात्मा गाँधी था।

wo sona tha na chandi tha
wo na tufaan tha na aandhi tha
bina ek chata maare pura desh wapas laaya tha
bhart ke us suraj ka naam mhatma gandhi tha

मरने के वाद मेरी एक अलग पहचान लिख देना
मेरी लहू से मेरी पेसानी पे हिन्दुस्तान लिख देना।

marne ke waad meri ek alag pahchaan likh dena
meri lahu se meri pesaani pe hindustaan likh dena

आओ झुककर करे सलाम
जिसके हिस्से में ये मुकाम आता है ,
खुश नसीब होता है वह खून
जो देश के काम आता है।

aao jhukkar kare salaam
jiske hisse me ye mukaam atta hai
khush nasib hota hai wah khun
jo desh ke kaam aata hai

भारत के शहीदों की यह वीर भूमि है ,
जहां एक शहीद होता है तो
लाखो पैदा होतें हैं।

bharat ke shahido ki yh veer bhumi hai
jhan ek shahid hota hai tou
laakho paida hote hain

Desh Bhakti Status in Hindi

चलो वो नजारा याद कर लें
देश भक्तो की नजरो में थी वो ज्वाल याद कर लें ,
जिसमे बहकर थी पहुंची आज़ादी के नारे पर
देश भक्तो की लहू की वो धारा याद कर लें।

chalo wo njara yaad kar len
desh bhakto ki najro me thi wo jwaal yaad kar le
jisme bahkar thi pahuchi aazadi ke naare par
desh bhakto ki lahu ki wo dhara yaad kar le

है धैर्य हमारा दूर नहीं
पर साहस भी तो क्या कम है
सोने की लंका राख करे
वह आग लगानी आती है।

hai dhaory hmaara door nhi
pr saahas bhi tou kya km hai
sone ki lanka raakh kar di
wh aag lagani aati hai

सर पर जिसके हिमालय का ताज है
पाँव पाखाडे जिसके सागर बिराज है
हम संतान है भारत माँ की ,इसका में नाज है
भारत का जयघोष हो मेरे दोस्तों
गणतंत्र दिवस आज है।

sar pr jiske himaaly ka taaz hai
paaw pakhade jiske saagar biraaz hai
hm santaan bharat maa ki iska hme naaz hai
bhaarat ka jay ghosh ho mere dosto
gantantra diwas aaj ahi

Latest Desh Bhakti Status in Hindi

नाम पर मजहबो को लड़लड़कर
यु ही सड़को पर बहा दोगे
सरहदों ने अगर लहू माँगा
तो दोस्तों सरहदों को क्या दोगे।

naam par majhabo ko ladladkar
yu hi sadko par bha doge
sarhado ne agar lhu manga
tou dosto sarhado ko kya doge

गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगारा
चमक रहा है आसमान में देश का सितारा
इस पावन दिवस पर आओ मिलकर करें दुआ
की बुलंदियों पर लहराता रहे तिरंगा हमारा।

gunj raha hai duniya me bhaarat ka nagaara
chamak raha hai aasmaan me desh ka sitaara
is paawan diwas pr aao milkar kare dua
is bulandiyo pr lahrata rhe tiranga hmara

ये बात हवाओ को बताये रखना
आज़ादी के चिरागो को जलाये रखना
लहू देकर जिसकी हिफाजत सहीदो ने की
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना।

ye baat hwaao ko btaaye rakhna
aazadi ke chiraago ko jalaaye rakhna
lahu dekar jiski hifajat sahido ne ki
us tirango ko sada dil me basaaye rakhna

26 january Quotes in Hindi

करते हैं सलाम उन वीरो की जो देश की शान है।
रहेगा ऊंचा तिरंगा जब तक कतरे कतरे में जान है।

karte hain salaam un veero ko jo desh ki shaan hai
rhega uncha tiranga jab tak katre katre me jaan hai

तीब्र गति से बहती रही जब
देश प्रेम की निमल गंगा
आज़ादी की खातिर वीरो ने
जब हाथ में लिया तिरंगा।

tibra gati se bahti rhi jb
desh prem ki niramal ganga
aazdi ke khatir veero ne
jb haath me liya tiranga

आज़ादी का यह दिन शहीदों के नाम करें
सर उठाकर तिरंगो को सलाम करे
वतन के वास्ते कुछ कर करने का ले संकल्प
आओ आवाज़ से आवाज़ मिलाकर राष्ट्रगान करें।

aazadi ke ye din shahido ke naam karen
sar uthakar tirango ko salaam karen
vatan ke vaaste kuchh kar karne ka le sankalp
aao aawaz se aawaz milakar rastragaan kare

देशभक्ति पर बेहतरीन शायरी।

चन्द्रशेखर आज़ाद पर कविता।

सैनिक पर कविता।

 शहीद भगत सिंह पर कविता हिंदी में

हिंदी दिवस पर कविता।

स्वतंत्रता दिवस पर कविता।

 गांधी जयंती पर कविता

बेस्ट हिंदी कविताएं

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!